तो नैनीताल ( Nainital ) से शिफ्ट( Shift ) होगा हाईकोर्ट( High Court )! ये रही वजह,  इन शहरों( Cities ) में तलाशी जा रही जमीन( Govt. Acquiring Land ) 

Khabardaar Bureau

16 December,2021

तो नैनीताल ( Nainital ) से शिफ्ट( Shift ) होगा हाईकोर्ट( High Court )! ये रही वजह,  इन शहरों( Cities ) में तलाशी जा रही जमीन( Govt. Acquiring Land )

नैनीताल से शिफ्ट हो सकता है हाईकोर्ट,पंतनगर सहित इन शहरों में तलाशी जा रही जमीन

नैनीताल से हाईकोर्ट हल्द्वानी या फिर पंतनगर शिफ्ट होने की उम्मीदें बढ़ गई हैं। केंद्रीय कानून राज्यमंत्री प्रो एसपी सिंह बघेल ने राज्य सरकार से इसके लिए समुचित जमीन उपलब्ध कराने का आग्रह किया है। नैनीताल से हाईकोर्ट को शिफ्ट करने की मांग को लेकर पिछले साल वकील भी विरोध प्रदर्शन कर चुके हैं। दरअसल, हाईकोर्ट के लिए जितनी जगह की जरूरत है, नैनीताल में उपलब्ध नहीं हो पा रही है। वादकारियों की बात तो दूर, वहां वकीलों को चैंबर बनाने तक लिए जमीन नहीं है।

तो नैनीताल ( Nainital ) से शिफ्ट( Shift ) होगा हाईकोर्ट( High Court )! ये रही वजह,  इन शहरों( Cities ) में तलाशी जा रही जमीन( Govt. Acquiring Land )

ऐसे में हाईकोर्ट के शिफ्टिंग की संभावनाएं पहले से जताई जा रही थी। बुधवार को कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि केंद्र सरकार हाईकोर्ट के शिफ्टिंग के लिए सहमत है, लेकिन इसके लिए एक शर्त यह जोड़ी है कि यदि एयरपोर्ट या फिर रेलवे स्टेशन के आसपास जमीन मिलेगी तो तब ही इस पर विचार किया जाएगा। केंद्रीय राज्यमंत्री बघेल ने इस पर सहमति दी है। उन्होंने कहा कि अब मुख्यमंत्री पुष्कर धामी को ही इस पर अंतिम निर्णय लेना है।

तो नैनीताल ( Nainital ) से शिफ्ट( Shift ) होगा हाईकोर्ट( High Court )!  ये रही वजह,  इन शहरों( Cities ) में तलाशी जा रही जमीन( Govt. Acquiring Land ) 

नैनीताल के पर्यटन पर पड़ रहा है असर
कैबिनेट मंत्री महाराज ने कहा कि नैनीताल में हाईकोर्ट के विस्तार की कोई गुंजाइश नहीं है। उल्टा वहां के पर्यटन पर असर पड़ रहा है। जाम की वजह से पर्यटकों को पहले ही वाहन खड़े करने के लिए मजबूर होना पड़ता है। मुश्किलें आने से फिर दोबारा ये पर्यटक उत्तराखंड के बजाय दूसरे प्रदेशों का रूख करने लगते हैं। इससे जहां राज्य का पर्यटन प्रभावित हो रहा है, वहीं स्थानीय रोजगार के मौके पर कम हो रहे हैं। इसके साथ ही वकीलों के लिए चैंबर भी नहीं बन पा रहे हैं। बीते सालों में नैनीताल में हाई कोर्ट के होने की वजह से बढे ट्रैफिक की वजह से नैनीताल में सैलानियों की तादात पर खासा असर पड़ा है, सरोवर नगरी में पार्किंग के इंतजामात न होने की वजह सा अब पर्यटक दूसरे स्थानों का रुख कर रहे हैं इसका सीधा असर यहाँ के  स्थानीय व्यवसाइयों पर पड़ रहा है  अगर सरकार हाई कोर्ट को नैनीताल से हटाकर दूसरे शहर में शिफ्ट करती है तो एक तो वहां कोर्ट के लिए समुचित जगह मिल सकेगी साथ ही स्थानीय लोगों को आजीविका का एक और बेहतरीन स्थान मुहैया हो जायेगा 

 
 
                                             

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *