राजस्थान( Rajasthan) में भी कांग्रेस( Congress) का पांच का फार्मूला( Formula)

राजस्थान( Rajasthan) में भी कांग्रेस( Congress) का पांच का फार्मूला( Formula) !

राजस्थान में 10 अगस्त को कैबिनेट विस्तार हो सकता है लेकिन पार्टी में नाराज चल रहे पायलट की भूमिका पर अभी सस्पेंस बना हुआ है कहा जा रहा है कि सचिय पायलट की राजस्थान के प्रभारी अजय माकन से एक महत्वपूर्ण मीटिंग हो चुकी है. और अब माकन जयपुर का रुख करने जा रहे हैं जहां पर उनकी और कई अहम मुलाकातें होने जा रही हैं. पंजाब का मसला हल करने के बाद  अब कांग्रेस राजस्थान में भी अपनी अंदरूनी लड़ाई को सुलझाने में लग गई है.  पिछले डेढ़ साल से पायलट बनाम गहलोत गुट की लड़ाई की गवाह बनी राजस्थान की राजनीति अब समाधान की ओर जा सकती है. खबर है कि अगस्त 10 को मंत्रिमंडल विस्तार संभव है और तब पायलट गुट को संतुष्ट करने का प्रयास किया जाएगा.

KHABARDAR Express...

राजस्थान( Rajasthan) में भी कांग्रेस( Congress) का पांच का फार्मूला( Formula) !

हलांकि इस मामले में अभी औपचारिक तौर पर कुछ कहना जल्दबाजी होगी लेकिन कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि राजस्थान कांग्रेस में एक बड़ा फेरबदल होने जा रहा है…. इसके तहत कैबिनेट विस्तार भी होगा और पुराने सभी विवादों को भी सुलझाया जाएगा….इस बारे में एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता का कहना है कि अब हम प्रदेश में पार्टी को पूरी तरह से  बदलने जा रहे हैं. लोकल  बॉडी से लेकर संगठन तक, सभी जगह बदलाव दिखेगा. अगर सब कुछ रणनीति के मुताबिक रहा तो 10 अगस्त को कैबिनेट विस्तार संभव है….. कांग्रेस नेता का ये बयान ही काफी है कि अब पंजाब के बाद राजस्थान में भी अब कांग्रेस नेताओं के दिल मिल सकते हैं… और राजस्थान में भी एक समझौते के तहत पायलट गुट को खुश किया जा सकता है.

KHABARDAR Express...

राजस्थान में होगा कैबिनेट विस्तार

राजस्थान( Rajasthan) में भी कांग्रेस( Congress) का पांच का फार्मूला( Formula) !

अगर राजस्थान में होने वाले कैबिनेट विस्तार की बात करें तो अभी के लिए सचिन पायलट को लेकर कोई ऐलान नहीं किया गया है… उनको क्या नई भूमिका दी जाएगी इस बारे में सस्पेंस अभी भी बना हुआ है. ऐसी खबरें जरूर हैं कि सचिन को गुजरात चुनाव की जिम्मेंदारी दी जा सकती है इसके अलावा उनको कांग्रेस का जनरल सेक्रेटरी का पद भी दिया जा सकता है. लेकिन अभी के लिए ये सब सिर्फ कयास ही हैं और अंतिम फैसला कांग्रेस अध्यक्ष के स्तर पर होना है.

KHABARDAR Express...

अब सचिन को लेकर सस्पेंस है, लेकिन इतना जरूर कहा जा रहा है कि उनके गुट के कई नेताओं को मंत्रिमंडल में बड़े  पद मिल सकते हैं. उनके समर्थकों को लोकल बॉडी में भी अहम जिम्मेदारियां दी जा सकती हैं. इसके अलावा मंत्रिमंडल में सटीक संतुलन बैठाने के लिए बहुजन समाज पार्टी के कुछ विधायकों को भी शामिल किया जा सकता है. ये वहीं विधायक होंगे जिन्होंने उस समय गहलोत का समर्थन किया था जब सचिन पायलट ने बगावती तेवर दिखाए थे. ऐसे में उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल कर एक बड़ा दांव चला जा सकता है.

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *