हमें नाज(  We feel Proud) है अपनी बेटियों( our Girls) पर, राजस्थान(Rajasthan) के किसान परिवार (Farmers Family) की 5 बेटियां बनी RAS

खबरदार ब्यूरो

हमें नाज(  We feel Proud) है अपनी बेटियों( our Girls) पर, राजस्थान(Rajasthan) के किसान परिवार (Farmers Family) की 5 बेटियां बनी RAS

कहते हैं कि मंजिल उन्ही को मिलती है जिनके सपनों में जान होती है पंखों से कुछ नहीं होता है हौसलों से उड़न होती है राजस्थान के हनुमान गढ जिले में एक छोटे से गांव की इन बेटेयों ने किसी शायर की लिखी इन बातों को सही साबित कर दिखाया है हनुमान गढ के बेसुरी गांव की इन पांच बेटियों में से 2 तो पहले ही आरएएस की परीक्षा पास कर चुकी थी और अब हाल ही में अब इसी परिवार की 3 और बेटियों ने भी आरए एस की परीक्षा पास कर ली है और पूरे राजस्थान में अपना परचम लहराया है…. अपनी लाड़लियों की इस कामयाबी से पूरे गांव में जश्न का माहौल है

KHABARDAR Express...

एक ही परिवार की 5 बेटियां बनी RAS ऑफिसर

किसान परिवार से ताल्लुक रखती है पांचों बेटियां

गरीबी में भी हिम्मत नहीं हारी

राजस्थान के हनुमानगढ की हैं पांचों बेटियां

KHABARDAR Express...

हमें नाज(  We feel Proud) है अपनी बेटियों( our Girls) पर, राजस्थान(Rajasthan) के किसान परिवार (Farmers Family) की 5 बेटियां बनी RAS

अपनी इन बेटियों के कारनामें पर आज पूरे हनुमानगढ़ ही नहीं बल्कि पूरे देश को गर्व है.. और इन बेटियों के घरवालों की खुशी तो सातवें आसमानपर है…और हो भी क्यों ना एक साधारण से किसान परिवार की इन बेटियों ने अपनी कड़ी मेहनत और लगन से उस मुकाम को हासिल किया है जिसे पाना हर किसी की भी हसरत होती है.. राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के एक ही परिवार की पांच बेटियों ने आरएएस की परीक्षा पास करके इतिहास रच दिया है.. इससे पहले इसी परिवार की दो बेटियों ने भी आरएएस की परीक्षा में अपना परचम लहराया है और उसके बाद अब इन 3 और लाड़लियों ने भी आरएएस की परीक्षा पास कर ली है…. इन बेटियों ने ये साबित कर दिया है कि बेटियां भी बेटों से किसी भी तरह से कम नहीं हैं

KHABARDAR Express...

हमें नाज(  We feel Proud) है अपनी बेटियों( our Girls) पर, राजस्थान(Rajasthan) के किसान परिवार (Farmers Family) की 5 बेटियां बनी RAS

इस परिवार दो बेटियां मंजू और रोमा पहले ही आरएएस बन चुकी हैं एक वीडियो है तो दूसरी सहकारिता विभाग में हैंऔर अब रितु, अंशु और सुमन ने भी एक साथ आरएएस की परीक्षा पास कर ली है और पूरे देश में अपने गांव और परिवार का नाम रोशन किया है, खास बात ये भी है कि ये बेटियां एक किसान परिवार से ताल्लुक रखती हैं.. गर में आर्थिक तंगी के बावजूद भी इन बेटियों ने सारी अड़चने पार करके ये कामयाबी हासिल की है

देश की इन बेटियों ने अपने जोश, जुनून और लगन के बूते आरएएस बनकर साबित कर दिया है कि अगर अच्छी परवरिश दी जाय तो बेटियां बोझ नहीं बल्कि

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *