कांग्रेस( Congress) में नहीं थम रहा है पंजाब( Punjab) का रण( fight), कैंप्टन( Captain Amrender singh CM) नहीं हैं झुकने को तैयार

कांग्रेस( Congress) में नहीं थम रहा है पंजाब( Punjab) का रण( fight), कैंप्टन( Captain Amrender singh CM) नहीं हैं झुकने को तैयार

पंजाब का संकट- हरीश रावत और कैंप्टन की बैठक, सिद्धू ने शुरू किया मंत्रियों से मुलाकात का सिलसिला

KHABARDAR Express...

 कैप्टन अमरिंदर सिंह और सिद्धू के बीच सियासी जंग जारी है।नवजोत सिंह सिद्धू( Navjot singh sidhu) सूबे में कांग्रेस9 congress punjab state) का प्रधान बनना चहते हैं वही कैप्टेन सिद्धू के मशूबों पर लगातार पानी फेरते नजर आ रहे हैं…..कैप्टेन किसी भी कीमत पर सिद्धू को पार्टी में नम्बर दो की कुर्सी नहीं सौपना चहते हैं इसके लिए वो पार्टी के दो फाड भी कर सकते हैं शुक्रवार को नवजोत सिंह सिद्धू ने सोनिया गांधी( Sonia Gandhi) से नई दिल्ली में मुलाकात की। अब शनिवार को कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत चंडीगढ़( Harish rawat in Chandigarh) के दौरे पर हैं । उन्होंने यहां मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से उनके फॉर्म हाउस( farm House) में मुलाकात की।

KHABARDAR Express...

 पंजाब कांग्रेस के संकट पर शनिवार को राजनीति सरगर्मियां तेज हो गई हैं। पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मिलने चंडीगढ़ पहुंचे। और सीएम के फार्महाउस पर दोनों की बैठक चली । कैबिनेट मंत्री शाम सुंदर अरोड़ा भी वहां मौजूद रहे ।

वहीं दिल्ली से लौटे नवजोत सिद्धू शनिवार को अचानक पंचकूला पहुंचे और प्रदेश कांग्रेस प्रधान सुनील जाखड़ से मुलाकात की। मुलाकात के बाद सिद्धू ने जाखड़ को बड़ा भाई बताया और कहा वे हमेशा मेरा मार्गदर्शन करते रहे हैं। जाखड़ से मुलाकात करने के बाद विधायक नवजोत सिद्धू मंत्रियों और विधायकों से मिलने निकल पड़े हैं। सबसे पहले वे सेक्टर 39 स्थित कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा के आवास पर पहुंचे। यहां उनकी मुलाकात विधायक अमरिंदर सिंह राजा वडिंग और कुलबीर सिंह जीरा से भी हुई है।

KHABARDAR Express...

इनके अलावा लाल सिंह, बलबीर सिद्धू , दर्शन सिंह बराड़ और घुबाया से भी उन्होंने मुलाकात की। इस दौरान सिद्धू काफी उत्साह में दिखे। सूत्रों के अनुसार, हाईकमान के आदेश पर ही सिद्धू उन नेताओं से मिल रहे हैं, जो उनके साथ काम करने को लेकर सहज हैं। वहीं हरीश रावत को कैप्टन को मनाने का जिम्मा सौंपा गया है। ऐसे में देर शाम तक विवाद पर विराम लग सकता है।

 पंजाब में जारी कांग्रेस के अंतर्कलह से पार्टी का शीर्ष नेतृत्व असहाय दिख रहा है। पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से उनके निवास पर मुलाकात की थी। बैठक में राहुल गांधी और पंजाब के प्रभारी हरीश रावत भी शामिल थे।

KHABARDAR Express...

बैठक के बाद रावत ने कहा, सोनिया गांधी को पंजाब में पार्टी के मसले पर अभी अंतिम फैसला लेना है। रावत ने कहा कि सुरक्षा का जो भाव पंजाब के लोग मांगते हैं, वह कांग्रेस द्वारा ही दिया जाता है। लोग राज्य में शांति के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह की तारीफ करते हैं। लोग प्रयोग नहीं करना चाहते। जब भी अकालियों का साथ दिया तो अव्यवस्था फैली है। वहीं बैठक के बाद सिद्धू मीडिया से बात किए बिना चुपचाप 10 जनपथ से निकल गए थे।

KHABARDAR Express...

इससे पहले गुरुवार को रावत की बातों से लग रहा था कि सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष की कमान मिल सकती है। उसके बाद पंजाब में शक्ति प्रदर्शन शुरू हो गया। विधायक नवजोत सिंह सिद्धू की कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी के साथ बैठक शुरू होने से पहले ही मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी अपने ओएसडी नरिंदर भांब्री के हाथ सोनिया गांधी के नाम एक पत्र पहुंचा दिया। कांग्रेस पार्टी में पंजाब का विवाद इस कदर गहरा गया है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अप्रत्यक्ष तौर पर कांग्रेस हाईकमान को चेताया कि एक व्यक्ति को आगे बढ़ाने की वजह से पार्टी का बंटवारा होने से रोका जाए। जो पार्टी के लिए चुनावी साल में कतई भी ठीक नहीं है

 

 

 

 

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *