UP and Uttrakhand Election Survery: तो इस मुद्दे को इस बार के चुनाव में सबसे अहम मानती है जनता( Main issue of this assembly election in up & uttrakhand) उत्तराखंड और  यूपी की जनता( UP & Uttrakhand voters), क्या भाजपा के लिए ये राहत की बात है ?(Is in BJP Favour?)

Khabardaar Bureau

31 December, 2021


UP and Uttrakhand Election Survey: तो इस मुद्दे को इस बार के चुनाव में सबसे अहम मानती है जनता( Main issue of this assembly election in up & uttrakhand) उत्तराखंड और  यूपी की जनता( UP & Uttrakhand voters), क्या भाजपा के लिए ये राहत की बात है ?(Is in BJP Favour?)

 
UP Election Survery: उत्तर प्रदेश समेत 5 राज्यों में होने वाले आगामी विधान सभा चुनाव का लेकर जो बात सर्वे से साफ़ हो रही है वो है पीएम पौड़ी की पॉपुलैरिटी अभी भी बरक़रार है और अभी भी जनता उनके नाम पर वोट देने को तैयार दिख रही है उत्तराखंड की बात करें तो इस बार के विधानस सभा चुनाव केवल और केवल लोग पीएम मोदी के नाम पर वोट देने जा रहे हैं इसके अलावा अगर यूपी की बात की जय तो वहां सीएम योगी और पीएम मोदी के नाम पर ही जनता इसबार वोट करेगी सीएम योगी की पॉपुलैरिटी दिनों दिन बढ़ती जा रही है जबकि उत्तराखंड में सीएम धामी को लोग पहले से अब कम पसंद कर रहे हैं इसकी असल वजह पिछले दिनों सीएम धामी के कुछ फैसले और उनके बेलगाम हो रहे मंत्री रहे हैं, दरअसल सीएम धामी ने अपने मंत्रियों को खुली छूट दी है जबकि त्रिवेंद्र सिंह रावत मंत्रियों के हर फैसले में दखल दिया करते थे या योन कहें की त्रिवेंद्र के कार्यकाल में मंत्रिययों की नहीं चलती थी,

KHABARDAR Express...KHABARDAR Express...KHABARDAR Express...

  उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड  विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव  आयोग की तरफ  से कभी भी चुनावी  बिगुल फूंका जा सकता है। इस बीच उत्तेर प्रदेश की  राजनीतिक फिजा में कन्नौज के इत्र कारोबारी पियूष जैन  की गिरफ्तारी समेत कई मुद्दों की गूंज सुनने को मिल रही है। हिंदू बनाम मुस्लिम से ध्रुवीकरण, किसान आंदोलन, कानून व्यवस्था, सरकार का काम और पीएम मोदी की छवि जैसे ऐसे कई मुद्दे हैं, जिन पर जनता वोट की तैयारी में है। लेकिन सभी की दिलचस्पी इस बात पर होगी कि आखिर सबसे बड़ा मुद्दा फिलहाल जनता के बीच क्या है। इस पर एबीपी सी वोटर सर्वे में पता चला है कि मथुरा पर आक्रामक बयानों को लेकर 31 फीसदी लोगों ने कहा है कि भाजपा इसके जरिए ध्रुवीकरण की राजनीति कर रही है, जबकि 57 फीसदी लोग मानते हैं कि इन बयानों में ऐसा कुछ भी नहीं है 

पूरे देश की बात करें तो सबसे ज्यादा 22 फीसदी लोग मानते हैं कि किसान आंदोलन सबसे बड़ा मुद्दा है।

UP Election Survery: किस मुद्दे को चुनाव में सबसे अहम मानती है यूपी की जनता, भाजपा के लिए राहत की बात

 


UP and Uttrakhand Election Survery: तो इस मुद्दे को इस बार के चुनाव में सबसे अहम मानती है जनता( Main issue of this assembly election in up & uttrakhand) उत्तराखंड और  यूपी की जनता( UP & Uttrakhand voters), क्या भाजपा के लिए ये राहत की बात है ?(Is in BJP Favour?)

हालांकि इसमें भाजपा के लिए राहत की बात यह है कि कृषि कानूनों की वापसी के ठीक बाद 25 फीसदी लोग इसे सबसे अहम मुद्दा मान रहे थे, जिसमें अब 3 फीसदी की गिरावट आ गई है।  इसके बाद कोरोना और ध्रुवीकरण को 17-17 फीसदी लोगों ने चुनाव के लिए दूसरा सबसे बड़ा मुद्दा माना है। 15 फीसदी लोगों ने कानून व्यवस्था और 11 फीसदी ने सरकार के काम को वोट के लिए अहम मुद्दा माना है। हालांकि चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदी भी एक फैक्टर हैं, लेकिन उनकी छवि पर वोट पड़ने की बात सिर्फ 7 फीसदी लोगों ने ही कही है। साफ है कि विधानसभा चुनाव योगी और अखिलेश के चेहरों पर हो रहा है। इसमें पीएम नरेंद्र मोदी का ज्यादा दखल लोग नहीं मानते हैं। 

 

मथुरा को लेकर सीएम योगी के बयानों पर भी जनता की राय अलग है। मथुरा पर आक्रामक बयानों को लेकर 31 फीसदी लोगों ने कहा है कि भाजपा इसके जरिए ध्रुवीकरण की राजनीति कर रही है, जबकि 57 फीसदी लोग मानते हैं कि इन बयानों में ऐसा कुछ भी नहीं है। कोरोना को दो हफ्ते में सबसे बडा चुनावी मुद्दा मानने वालों की संख्या में एक फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। सरकार का कामकाज पांचवे नंबर पर है। इन सबके बीच हिंदू मुसलमान जैसे मुद्दे चुनाव में गरमा रहे हैं, लेकिन मथुरा में मुख्यमंत्री योगी ने जो कुछ कहा, उसको ज्यादातर लोग ध्रुवीकरण की राजनीति नहीं मानते।

 
 
                                          

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *