तो उत्तराखंड में होगी पहली ‘गे मैरिज’:( Frist “Gay Mairrage In Uttrakhand” ) एक-दूजे  के प्यार में दो युवक( Two young Boys have affair) , आखिरकार कोर्ट से मिली शादी की इजाज़त ( High court has given mairrage permission

 

खबरदार ब्यूरो 

27, December, 2021 

तो उत्तराखंड में होगी पहली ‘गे मैरिज’:( Frist Gay Mairrage In Uttrakhand)

एक-दूजे  के प्यार में दो युवक( Two young Boys have affair) , आखिरकार कोर्ट से मिली शादी की इजाज़त ( High court has given mairrage permission)

Uttarakhand में पहला  समलैंगिक विवाह (first gay marriage ) होने जा रही  है। Uttarakhand High Court ने दो युवकों को आपस में शादी करने की मंजूरी दे  दी है।

Uttarakhand First Gay Marriage: Uttarakhand first gay marriage High Court approved
Image: Uttarakhand first gay marriage High Court approved

उधमसिंह नगर: Uttarakhand में first gay marriage होने जा रही है..एक कहावत है..प्यार जाति-धर्म और मजहब, यहां तक कि जेंडर भी नहीं देखता, क्योंकि प्यार का कोई जेंडर नहीं होता, ये तो बस हो जाता है। जब प्यार परवान चढ़ता है तो प्रेमी जोड़ों को न परिवार दिखता है, न समाज। ऊधमसिंहनगर के रहने वाले दो लड़के भी कुछ साल पहले प्यार में पड़ गए। दोनों साथ में समय बिताने लगे। रिश्ता मजबूत हुआ तो दोनों ने समाज-परिवार से लड़कर शादी करने की भी सोच ली, लेकिन परिवार वालों को दोनों की नजदीकियां खटकने लगीं। परिवार ने पूछा ये रिश्ता क्या कहलाता है, तो दोनों लड़के सीधे  हाई कोर्ट  पहुंच गए और शादी के लिए मंजूरी मांगी। हाईकोर्ट ने दोनों को शादी की अनुमति दे दी और अब ये दोनों उत्तराखंड में पहली समलैंगिक शादी कर इतिहास बनाने वाले हैं।

First Gay Marriage in Uttarakhand

राज्य में समलैंगिक विवाह( Gay  Mairrage ) का ये पहला मामला है। उत्तराखंड हाईकोर्ट ने दो युवकों को  सैम लैंगिक विवाह  की स्वीकृति दे दी है। साथ ही पुलिस को दोनों युवकों को सुरक्षा मुहैया कराने के आदेश भी दिए हैं। आगे पढ़िए…

ऊधमसिंहनगर में रहने वाले दो युवक लंबे समय से एक-दूसरे के साथ रिलेशन में थे। दोनों अपने रिश्ते को नाम देना चाहते थे। शादी करना चाहते थे, लेकिन घरवाले राजी नहीं हुए। परिवार से सहमति न मिलने और विरोध की संभावना को देखते हुए दोनों युवकों ने उच्च न्यायलय की शरण ली और पुलिस सुरक्षा व्यवस्था की गुहार लगाई।

 

तो उत्तराखंड में होगी पहली ‘गे मैरिज’:( Frist “Gay Mairrage In Uttrakhand” ) एक-दूजे  के प्यार में दो युवक( Two young Boys have affair) , आखिरकार कोर्ट से मिली शादी की इजाज़त ( High court has given mairrage permission

Uttarakhand High Court Accepts Petition for First Gay Marriage

दोनों की ओर से दायर याचिका में बताया गया कि उच्चतम न्यायालय ने इस तरह की शादी को मान्यता दी है। उनकी भावनाएं और इच्छाएं भी सामान्य लोगों की तरह होती हैं। याचिका में यह भी बताया गया कि 2017 की रिपोर्ट के आधार पर विश्व के 25 देशों ने समलैंगिक विवाह को मान्यता दी है। सुनवाई के बाद  नैनीताल हाई कोर्ट  ने दोनों युवकों को विवाह करने की मंजूरी दे दी। ये उत्तराखंड का पहला समलैंगिक विवाह होगा। कोर्ट ने रुद्रपुर के थाना प्रभारी को दोनों समलैंगिक युवकों को पुलिस सुरक्षा देने और मामले से जुड़े विपक्षियों को नोटिस जारी कर न्यायालय में जवाब दाखिल करने के निर्देश भी दिए हैं।

उधमसिंह नगर: Uttarakhand में 1st gay wedding 

एक कहावत है..प्यार जाति-धर्म और मजहब, यहां तक कि जेंडर भी नहीं देखता, क्योंकि प्यार का कोई जेंडर नहीं होता, ये तो बस हो जाता है। जब प्यार परवान चढ़ता है तो प्रेमी जोड़ों को न परिवार दिखता है, न समाज। ऊधमसिंहनगर के रहने वाले दो लड़के भी कुछ साल पहले प्यार में पड़ गए। दोनों साथ में समय बिताने लगे। रिश्ता मजबूत हुआ तो दोनों ने समाज-परिवार से लड़कर शादी करने की भी सोच ली, लेकिन परिवार वालों को दोनों की नजदीकियां खटकने लगीं। परिवार ने पूछा ये रिश्ता क्या कहलाता है, तो दोनों लड़के सीधे हाईकोर्ट पहुंच गए और शादी के लिए मंजूरी मांगी। हाईकोर्ट ने दोनों को शादी की अनुमति दे दी और अब ये दोनों उत्तराखंड में पहली समलैंगिक शादी कर इतिहास बनाने वाले हैं।

First Gay wedding in Uttarakhand

राज्य गठन के बाद इस सूबे  में समलैंगिक विवाह का ये पहला मामला है। उत्तराखंड हाईकोर्ट ने दो युवकों को समलैंगिक विवाह की स्वीकृति दे दी है। साथ ही पुलिस को दोनों युवकों को सुरक्षा मुहैया कराने के आदेश भी दिए हैं।
ऊधमसिंहनगर में रहने वाले दो युवक लंबे समय से एक-दूसरे के साथ रिलेशन में थे। दोनों अपने रिश्ते को नाम देना चाहते थे। शादी करना चाहते थे, लेकिन घरवाले राजी नहीं हुए। परिवार से सहमति न मिलने और विरोध की संभावना को देखते हुए दोनों युवकों ने उच्च न्यायालय की शरण ली और पुलिस सुरक्षा व्यवस्था की गुहार लगाई।

 

तो उत्तराखंड में होगी पहली ‘गे मैरिज’:( Frist “Gay Mairrage In Uttrakhand” ) एक-दूजे  के प्यार में दो युवक( Two young Boys have affair) , आखिरकार कोर्ट से मिली शादी की इजाज़त

( High court has given mairrage permission Uttarakhand judicature Accepts Petition for 1st Gay Marriage in the  state )

दोनों  ही युवकों की तरफ से  दायर याचिका में  बताया गया कि उनकी साथ रहने की इच्छाएं  उच्चतम हैं और उच्च न्यायलय उनकी सुरक्षा के राज्य पुलिस को आदेश  दे क्योंकि बिना पुलिस की  सुरक्षा के उनका जीवन खतरे में पद सकता  है और शादी वो दोनों  नहीं कर सकते और साथ ही ये भी दवा किया की उनकी भी शादी की इच्छा और लोगों की ही तरह सामान्य हैं  इस तरह की शादी करने की उनकी भावनाएं  या इच्छाएं  सामान्य लोगों की ही  तरह होती याचिका में यह भी बताया गया कि साल  2017 की रिपोर्ट के  आधार पर विश्वभर में इस तरह की शादियों को पहले ही  मान्यता दी जा चुकी है।  और अब हिन्दुस्तान में भी इस तरह की शादी की इजाजत होनी चाहिए और उच्च की  न्यायालय उनको ये अधिकार दिलवाये।

 
 
 
                                          

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *