5 राज्यों के विधानसभा चुनाव ?( 5 states Lagislative election can be postpond) केंद्र के साथ चुनाव आयोग की बैठक आज ( Meeting of central election commission with cetntral gov today)

Khabardaar Bureau

27, December, 2021

टाले जा सकते हैं 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव ?( 5 states Lagislative election can be postpond) केंद्र के साथ चुनाव आयोग की बैठक आज

( Meeting of central election commission with cetntral gov today)

 

KHABARDAR Express...KHABARDAR Express...

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में चुनावी तैयारियों का जायजा लेने के लिए मंगलवार को मुख्य निर्वाचन आयुक्त और निर्वाचन आयुक्तों के राज्य का दौरा करने का कार्यक्रम है। इलाहाबाद उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति शेखर यादव की पीठ ने बृहस्पतिवार को सरकार और निर्वाचन आयोग से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को एक या दो महीने के लिए टालने और कोविड​​-19 की तीसरी लहर की आशंका के बीच सभी राजनीतिक रैलियों पर प्रतिबंध लगाने पर विचार करने का आग्रह किया था। 

5 राज्यों के विधानसभा चुनाव ?( 5 states Lagislative election can be postpond) केंद्र के साथ चुनाव आयोग की बैठक आज
( Meeting of central election commission with cetntral gov today

 

Allahbad high court also in favour of election postpondटाले जा सकते हैं

इलाहाबाद उच्च न्यायालय की टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चंद्रा ने शुक्रवार को देहरादून में कहा था, ”मैं अगले हफ्ते उत्तर प्रदेश का दौरा करूंगा। स्थिति की समीक्षा करने के बाद उचित फैसला किया जाएगा।” आयोग चुनाव पूर्व तैयारियों का जायजा लेने के लिए पहले ही पंजाब, गोवा और उत्तराखंड का दौरा कर चुका है।
देश का खतरा लगातार बढ़ता  जा रहा है  और ये खतरे अगली  सरकार के लिए एक कड़ी चुनौती साबित वाले  इसी मद्देनजर आज यानि सोमवार को केंद्रीय चुनाव आयोग की केंद्र सरकार के नुमायिन्दों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक होने जा रही है इस बैठक के बाद तय हो सकता है की पांच राज्यों में समय से चुनाव होंगे या फिर चुनाव 2  से 3  महीने के लिए टाले जा सकते हैं हालांकि ज्यादा संभावना यही है कि चुनाव अगले 2  से 3  महीने के लिए टाले जाएं इसका संकेत खुद चुनाव आयोग भी दे चुका है, जिस तरीके से पूरी दुनिया समेत भारत में भी ओमिक्रोन तेजी से फ़ैल रहा है ऐसे में इसकी चीन को तोड़ने के लिए कई पाबंदियों को लगाया जाना है अगर चुनाव की तारीखों का ऐलान हो जाता है तो ओमिक्रोन देश में तेजी से फ़ैल सकता है इसकी वजह है चुनाव के दौरान होनेवाली रैलियां जिनमें लोग सोशल डिस्टन्सिंग की धज्जियाँ उड़ाते दिख सकते है और फिर ओमिक्रोन से फैलने से रोकने और देशभर में होने वाले नुकसान से बचने वाला कोई नहीं होगा ऐसे में बेहतर यही है की चुनाव फिलहाल टाले जयिन और कोरोना की लहार शांत होने के बादही कराएं जाए क्योंकि जिंदगी रहेगी तो ही चुनाव हो सकेंगे,    पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा लिए बीच के ओमिक्रॉन  में , पंजाब, उत्तराखंड और मणिपुर विधानसभाओं का कार्यकाल अगले साल मार्च में अलग-अलग तारीखों पर समाप्त हो रहा है, जबकि उत्तर प्रदेश में विधानसभा का कार्यकाल मई में समाप्त होगा। निर्वाचन आयोग अगले महीने चुनाव की तारीखों की घोषणा कर सकता है। आयोग चुनाव प्रचार, मतदान के दिनों और मतगणना की तारीखोंके लिए अपने कोविड-19 प्रोटोकॉल में सुधार को लेकर भूषण से सुझाव भी मांग सकता है।

KHABARDAR Express...KHABARDAR Express...KHABARDAR Express...

टाले जा सकते हैं 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव ?( 5 states Lagislative election can be postpund) केंद्र के साथ चुनाव आयोग की बैठक आज
( Meeting of central election commission with cetntral gov today

central EC will visit UP  on tuesday regarding election rescheduling

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में चुनावी तैयारियों का जायजा लेने के लिए मंगलवार को मुख्य निर्वाचन आयुक्त और निर्वाचन आयुक्तों के राज्य का दौरा करने का कार्यक्रम है। इलाहाबाद उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति शेखर यादव की पीठ ने बृहस्पतिवार को सरकार और निर्वाचन आयोग से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को एक या दो महीने के लिए टालने और कोविड-19 की तीसरी लहर की आशंका के बीच सभी राजनीतिक रैलियों पर प्रतिबंध लगाने पर विचार करने का आग्रह किया था। इलाहाबाद उच्च न्यायालय की टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चंद्रा ने शुक्रवार को देहरादून में कहा था, ”मैं अगले हफ्ते उत्तर प्रदेश का दौरा करूंगा। स्थिति की समीक्षा करने के बाद उचित फैसला किया जाएगा।” आयोग चुनाव पूर्व तैयारियों का जायजा लेने के लिए पहले ही पंजाब, गोवा और उत्तराखंड का दौरा कर चुका है।

 

 

 

 

 रहा है  और ये खतरे अगली  सरकार के लिए एक कड़ी चुनौती साबित वाले  इसी मद्देनजर आज यानि सोमवार को केंद्रीय चुनाव आयोग की केंद्र सरकार के नुमायिन्दों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक होने जा रही है इस बैठक के बाद तय हो सकता है की पांच राज्यों में समय से चुनाव होंगे या फिर चुनाव 2  से 3  महीने के लिए टाले जा सकते हैं हालांकि ज्यादा संभावना कि चुनाव अगले 2  से 3  महीने के लिए टाले जाएं इसका संकेत खुद चुनाव आयोग भी दे चुका है, जिस तरीके से पूरी दुनिया समेत भारत में भी ओमिक्रोन तेजी से फ़ैल रहा है ऐसे में इसकी चीन को तोड़ने के लिए कई पाबंदियों को लगाया जाना है अगर चुनाव की तारीखों का ऐलान हो जाता है तो ओमिक्रोन देश में तेजी से फ़ैल सकता है इसकी वजह है चुनाव के दौरान होनेवाली रैलियां जिनमें लोग सोशल डिस्टन्सिंग की धज्जियाँ उड़ाते दिख सकते है और फिर ओमिक्रोन से फैलने से रोकने और देशभर में होने वाले नुकसान से बचने वाला कोई नहीं होगा ऐसे में बेहतर यही है की चुनाव फिलहाल टाले जयिन और कोरोना की लहार शांत होने के बादही कराएं जाए क्योंकि जिंदगी रहेगी तो ही चुनाव हो सकेंगे,    पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा लिए बीच के ओमिक्रॉन  में , पंजाब, उत्तराखंड और मणिपुर विधानसभाओं का कार्यकाल अगले साल मार्च में अलग-अलग तारीखों पर समाप्त हो रहा है, जबकि उत्तर प्रदेश में विधानसभा का कार्यकाल मई में समाप्त होगा। निर्वाचन आयोग अगले महीने चुनाव की तारीखों की घोषणा कर सकता है। आयोग चुनाव प्रचार, मतदान के दिनों और मतगणना की तारीखों के लिए अपने कोविड-19 प्रोटोकॉल में सुधार को लेकर भूषण से सुझाव भी मांग सकता है। 

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में चुनावी तैयारियों का जायजा लेने के लिए मंगलवार को मुख्य निर्वाचन आयुक्त और निर्वाचन आयुक्तों के राज्य का दौरा करने का कार्यक्रम है। इलाहाबाद उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति शेखर यादव की पीठ ने बृहस्पतिवार को सरकार और निर्वाचन आयोग से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को एक या दो महीने के लिए टालने और कोविड-19 की तीसरी लहर की आशंका के बीच सभी राजनीतिक रैलियों पर प्रतिबंध लगाने पर विचार करने का आग्रह किया था। इलाहाबाद उच्च न्यायालय की टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चंद्रा ने शुक्रवार को देहरादून में कहा था, ”मैं अगले हफ्ते उत्तर प्रदेश का दौरा करूंगा। स्थिति की समीक्षा करने के बाद उचित फैसला किया जाएगा।” आयोग चुनाव पूर्व तैयारियों का जायजा लेने के लिए पहले ही पंजाब, गोवा और उत्तराखंड का दौरा कर चुका है।

                                         

 

 

 

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *