हरीश रावत( Harish rawat) और प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ( Uttrakhand Parbhari) के रिश्तों में आयी खटास, हरीश की आलाकमान( congress President)को दो टूक प्रभारी को रखो या मुझे( Clear cut massege) , क्या हरीश के खिलाफ काम कर रहे हैं देवेंदर यादव ( Davendra Yadav is Agaist Harish Rawat ! )

Khabardaar Bureau

21 December, 2021

हरीश रावत( Harish rawat) और प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ( Uttrakhand Parbhari) के रिश्तों में आयी खटास, हरीश की आलाकमान( congress President)को दो टूक प्रभारी को रखो या मुझे( Clear cut massege) , क्या हरीश के खिलाफ काम कर रहे हैं देवेंदर यादव ( Davendra Yadav is Agaist Harish Rawat ! )

KHABARDAR Express...
 
 
 
कांग्रेस में नेताओं की गुटबाजी और ज्यादा बढ़ी

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कांग्रेस संगठन पर उठाए सवाल

सोशल मीडिया पर पोस्ट के जरिए रखी अपनी बात

हरीश रावत ने कहा संगठन का ढांचा

सहयोग के बजाय कई जगह या तो मुंह फेर कर खड़ा हो जा रहा है या नकारात्मक कार्य कर रहा है

हरीश रावत ने कहा मन में बहुत विचार आ रहे हैं कि अब बहुत हो गया

लेकिन फिर मन के एक कोने से आवाज उठ रही है

KHABARDAR Express...

हर हाल में हरीश रावत बनना चाहते है उत्तराखंड का सीएम 

जनता से की अपील , कहा मेरे समर्थन में जुटिये , मुझे धक्का देने वालो से बचाइए

KHABARDAR Express...

2022 के चुनाव में हरीश रावत जहां कांग्रेस को सत्ता में लाने के लिए खास है समर्पित नजर आ रहे हैं वहीं अगर सत्ता में कांग्रेस आती है तो हरीश रावत मुख्यमंत्री भी बनना चाहते हैं मुख्यमंत्री बनने की अपनी चाहत हरीश रावत कई बार जता चुके हैं और वैसे भी हरीश रावत लगातार पार्टी आलाकमान से मांग करते रहे हैं कि उन्हें मुख्यमंत्री के चेहरे के रूप में प्रस्तुत किया जाए हालांकि पार्टी नेतृत्व ने संयुक्त नेतृत्व में चुनाव लड़ने की बात कही है लेकिन जैसे-जैसे चुनाव पास आ रहे हैं हरीश रावत की मुख्यमंत्री बनने की तमन्ना लगातार आगे बढ़ती जा रही है ऐसे में साक्षात्कार के साथ साथ सोशल मीडिया में भी हरीश रावत अपनी इस इच्छा को जता रहे हैं और अब तो आम जनता से भी हरीश रावत इसके लिए सहयोग मांग रहे हैं अपने फेसबुक पेज पर हरीश रावत ने लिखा कि#राजनीतिमैं आह भी भरता हूँ तो लोग खफा हो जाते हैं। यदि उत्तराखंड के भाई-बहन मुझसे प्यार जता देते हैं तो लोग उलझन में पड़ जाते हैं। मैंने पहले भी कहा है कि हम लाख कहें, लोकतंत्र की दुल्हन तो वही होगी जो जनता रुपी पिया के मन भायेगी। मैं तो केवल इतना भर कहना चाहता हूँ कि उत्तराखंड यदि मैं, आपके घर को आपके मान-सम्मान के अनुरूप ठीक से संभाल सकता हूँ तो मेरे समर्थन में जुटिये। राजनीति की डगर सरल नहीं होती है, बड़ी फिसलन भरी होती है। कई लोग चाहे-अनचाहे भी धक्का दे देते हैं, ये धक्का देने वालों से भी बचाइये। यदि मैं आपके उपयोग का हूँ तो मेरा हाथ पकड़कर मुझे फिसलन और धक्का देने वाले, दोनों से बचाइये।
 
 
 
                                             

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *