हिन्दू जहां भी कमज़ोर( Week Hindu, week country) पड़ा वहीं भारत की अखंडता ख़तरे में पड़ी ( Integrity of Bharat will weeken) :- मोहन भागवत (RSS Mohan Bhagwat) 

खबरदार ब्यूरो

हिन्दू जहां भी कमज़ोर( Week Hindu, week country) पड़ाहीं भारत की अखंडता ख़तरे में पड़ी ( Integrity of Bharat will weeken) :-  मोहन भागवत (RSS Mohan Bhagwat) 

राष्ट्रीस्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि अंग्रेज़ों ने भारत का जोतिहास लिखा है उसे हमें फिर से लिखना होगा, लिहाजा हमें देश का असली इतिहास एक बार फिर से  वापस लौटाने की ज़रूरत है. न्होंने ये भी कहा कि मज़बूत समाज के लिए हमें हिन्दुत्व को मज़बूत बनाने की ज़रूरत है.आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के इन बयानों को पहले पन्ने पर प्रकाशित किया है. वे शनिवार को ग्वालियर में एक कार्यक्रम में बोल रहे थे.उस कार्यक्रम में उन्होंने कहा, “हमें ‘हिंदू ही भारत है और भारत हिंदू है’, इस तथ्य को मज़बूत बनाने की ज़रूरत है, क्योंकि अंग्रेजों ने हमारे इतिहास को फिर से लिखकर हमारी मूल पहचान ही बदल दी. जिन घुमक्कड़ों को अंग्रेज़ों ने अपराधी कहा और आज़ादी के बाद हमने जिन नोटिफाई किया, वे संत और सिद्ध पुरुषों के आदमी थे.”

KHABARDAR Express...

हिन्दू जहां भी कमज़ोर( Week Hindu, week country) पड़ाहीं भारत की अखंडता ख़तरे में पड़ी ( Integrity of Bharat will weeken) :-  मोहन भागवत (RSS Mohan Bhagwat) 

मोहन भागवत ने आगे कहा, ”वे लोग समाज को गौरव देने के अभियान का हिस्सा थे. हिन्दुत्व को भारत से और भारत को हिन्दुत्व से अलग नहीं किया जा सकता. इस सोच ने हमें ख़ास बनाया लेकिन अंग्रेज़ों ने यहां आकर भारत के इतिहास को फिर से लिखा था. अंग्रेजों ने लिखा था कि हमारे पूर्वज 15 पीढ़ी पहले नहीं थे. क्योंकि इतिहास में कोई हिन्दू नहीं यानी भारत नहीं है. इससे अखंड भारत की परिकल्पना साबित की जा सकती है

KHABARDAR Express...

आरएसएस प्रमुख के  मुताबिक, 1947 में हुए देश के विभाजन ने  हिन्दुओं को कमज़ोर कर दिया था. उन्होंने कहा, “जब पाकिस्तान बना तो हमें नहीं बताया गया कि भारत और हिन्दुस्तान बन जाते हैं. आपने उस देश का दूसरा नाम रखा क्योंकि उनको मालूम था कि  भारत हिन्दू राष्ट्र  है और हिन्दू  ही भारत है.”

हिन्दू जहां भी कमज़ोर( Week Hindu, week country) पड़ाहीं भारत की अखंडता ख़तरे में पड़ी ( Integrity of Bharat will weeken) :-  मोहन भागवत (RSS Mohan Bhagwat) 

KHABARDAR Express...

मोहन भागवत के मुताबिक़, ”अखंड भारत वहां बंटा, जहां हिन्दू कमज़ोर हैं. फिर भी अगर हम भारत में उन जगहों को देखें जहां के लोग परेशान हैं और जहां देश की अखंडता ख़तरे में है, तो पाएंगे उस जगह के हिंदू और हिंदुत्व के विचार कमज़ोर हैं. हमें अपनी आत्मा  को जिंदा रखना है. इसलिए मोहम्मद इक़बाल ने कहा कि “कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी सदियों रहा है दुश्मन दौरे जहां हमारा”

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *