देवस्थानम बोर्ड(Devsthanam Board) होगा निरस्त( Quess)! आप भी जानें सीएम पुष्कर सिंह धामी ने इस पर क्या कहा ( CM Pushkar singh DhamiUttrakhand)

खबरदार ब्यूरो

 

देवस्थानम बोर्ड(Devsthanam Board) होगा निरस्त( Quess)! आप भी जानें

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने इस पर क्या कहा

( CM Pushkar singh DhamiUttrakhand)

देवस्थानम बोर्ड होगा निरस्त! जानें सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा‌‌?

उत्तराखंड से देवस्थानम बोर्ड को लेकर एक बड़ी खबर आ रही है सूत्रों का कहना है कि धामी सरकार ने पूरा मन बना लिया है कि देवस्थानम बोर्ड के गठन को रद्द कर दिया जाय हलांकि सूत्रों का ये भी कहना है कि सीएम स्तर पर भी फैसला हो चुका है लेकिन क्योंकि हाल ही में विधान सभा सत्र होना है लिहाजा सरकार चाहती है कि इस कानून को भी विधान सभा के जरिए ही वापस लिया जाय और इसके लिए पूरी कवायद करीब करीब पूरी हो चुकी है अब केवल घोषणा होना ही बाकी रह गया है जल्दी ही सरकार इस बात का ऐलान कर सकती है कि देवस्थानम बोर्ड के गठन के फैसले को सरकार ने वापस ले लिया है गौरतलब है कि चारों धामों से जुड़े पंड़ा समाज के लोग इस बोर्ड के गठन के दिन से ही इसका विरोध कर रहे हैं लेकिन पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने इस फैसले को अपनी नांक का सवाल बना दिया था इसी लिए ये फैसला वापस नहीं हो सका था लेकिन सीएम धामी के सत्ता को संभालते ही उन्होंने ुरू में ही इशारा कर दिया था कि देर लबेर वो इस फैसले को वापस ले लेंगे

चारधाम देवस्थानम बोर्ड के लिए गठित हाईपावर कमेटी ने अपनी फाइनल रिपोर्ट सरकार को सौंप दी है। सीएम पुष्कर धामी ने कहा कि सरकार कमेटी की रिपोर्ट का अध्ययन करेगी। समझा जा रहा है कि सरकार बोर्ड पर बड़ा फैसला ले सकती है।मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र ने तीन कृषि कानून वापस लिए हैं, पर इसकी तुलना देवस्थानम बोर्ड से नहीं की जानी चाहिए।

देवस्थानम बोर्ड होगा निरस्त! जानें सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा‌‌?

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी के कहीं जाने से भाजपा पर कोई असर नहीं पड़ने वाला। हकीकत यह है कि कांग्रेस के कई लोग हमारे संपर्क में हैं। जल्द सभी को ये पता चल जाएगा। खटीमा मेरी कर्मभूमि, सीट बदलने का कोई कारण नहीं: सीएम धामी ने कहा कि खटीमा मेरी कर्मभूमि है। ऐसे में सीट बदलने का कोई कारण नहीं है। पार्टी जो भी फैसला करेगी, वो उसका पालन करेंगे।

सरकार ने देवस्थानम बोर्ड को लेकर हाईपावर कमेटी का गठन किया। कमेटी की जिम्मेदारी सभी पक्षों को सुनने की थी। कमेटी ने फाइनल रिपोर्ट सौंप दी है। सरकार इस मामले में सभी पक्षों को ध्यान में रखकर फैसला लेगी। इसके लिए सरकार हाईपावर कमेटी की रिपोर्ट अध्ययन करेगी। अध्ययन करने के बाद जल्द ही फैसला ले लिया जाएगा।

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *