अब ऐसी जमीन( Land in Hill Area)पर भी बनेंगे होम स्टे( Home stay), सब्सिडी की रकम( Subsidy amount) पर भी हुआ फैसला ( Uttrakhand cbinet decision) उत्तराखंड कैबिनेट बैठक

खबरदार ब्यूरो

अब ऐसी जमीन( Land in Hill Area)पर भी बनेंगे होम स्टे( Home stay), सब्सिडी की रकम( Subsidy amount) पर भी हुआ फैसला

( Uttrakhand cbinet decision) उत्तराखंड कैबिनेट बैठक

KHABARDAR Express...

उत्तराखंड सरकार ने पंडित दीन दयाल उपाध्याय होम स्टे योजना का दायरा बढ़ा दिया है। अब लीज की जमीन पर होम स्टे बन सकेगा। होम स्टे के लिए सब्सिडी 33 प्रतिशत से बढ़ा कर 50 प्रतिशत कर दी गई है। साथ ही कैबिनेट ने राज्य की नई खेल नीति पर भी मुहर लगा दी है।  मंगलवार शाम को सचिवालय स्थित विश्वकर्मा भवन में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए।

सरकारी प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने बताया कि कैबिनेट में 30 प्रस्ताव रखे गए, जिनमें से कुछ प्रस्तावों को मंजूरी देने के लिए मुख्यमंत्री धामी को अधिकृत किया गया। उन्होंने बताया कि अभी तक होम स्टे निर्माण के लिए निजी भूमि की आवश्यकता होती थी। अब सरकार ने इसमें रियायत दे दी है और लीज की जमीन पर भी होम स्टे खोलने की अनुमति दे दी है।

KHABARDAR Express...

अब ऐसी जमीन( Land in Hill Area)पर भी बनेंगे होम स्टे( Home stay), सब्सिडी की रकम( Subsidy amount) पर भी हुआ फैसला

( Uttrakhand cbinet decision) उत्तराखंड कैबिनेट बैठक

लीज की जमीन पर भी होम स्टे निर्माण के लिए सब्सिडी का लाभ मिलेगा। अधिकतम सब्सिडी लागत का 50 फीसदी या अधिकतम 15 लाख रुपये दिए जाएंगे। राज्य सरकार के इस फैसले से उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों से लगातार हो रहे पलायन पर भी अंकुश लग सकेगा।

KHABARDAR Express...

उत्तराखंड से पलायन रोकने के लिए होम स्टे योजना को मिल का पत्थर माना जा रहा था और उम्मीदों के मुताबिक पिछले कम समय में ही इसयोजना की तरफ जिस तरह से पहाड़ी इलाको के लोगों का रझान बढ़ा है उससे ये तो साफ हो गया है कि पहाड़ों को आबाद रखने के लिए औत्तराखंड में होम स्टे की ही तरह दूसरी योजनाओं की दरकार है जिससे एक तरफ टूरिस्ट पहाड़ी इलाकों का रुख करेंगे और साथ ही इससे पहाड़ में रह रहे लोगों की आर्थिकी में भी इजाफा होगा इस योजना की अहमियत को भांपते हुए सीएम धामी ने फौरन योजना में लोगों की पसंद के मुताबिक बदलाव कर इस योजना को और अधिक लोक लुभावन बना डाला है यानि कि सब्सिड़ी की रकम भी 50 फीसदी कर दी है साथ ही जो सबसे बड़ा रोड़ा इस योजना को सफल बनने से रोक रहा था वो था लीज की जमीन पर सब्सिड़ी का ना मिलना लेकिन सीएम धामी ने इन दोनों ही क्लॉज में बदलाव कर इस योजना को लोगों की पसंदीदा योजना बना दिया है अब माना जा रहा है कि जो बड़े व्यवसायी जिन की पहाड़ में जमीन नहीं है वो भी पहाड़ी इलाकों में अपना होम स्टे खोल सकते हैं जिससे लीज पर जमीन देने वाले लोगों का तो फाटदा होगा ही साथ ही इस होम स्टे में काम करने के लिए स्थानीय लोगों को भी रोजगार का मौका मिलेगा जिससे अब वो छोटी मोटी नौकरी के लिए पहाड़ से पलायन नहीं करेंगे

KHABARDAR Express...

अब माना जा रहा है कि सरकारी मुलाजिमों ने इस योजना में रोड़े नही अटकाए तो होम स्टे योजना आने वाले समय में उत्तराखंड की चार धाम यात्रा की ही तरह सूबे के विकास की लाइफ लाइन बन सकती है लेकिन अब सीएम धामी को जरूर ब्यूरोक्रेट पर नकेल कसनी पड़ेगी जिससे वो वेबजह इस योजना को शुरु करने वाले लोगों की राह में रोड़े ना अटका सकें

 

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *