घर बैठकर(Sitting in Home) नहीं होगी 10वीं और 12वीं( 10th class & 12th class) की बोर्ड परिक्षाएं( Board Examinations)- सुप्रीम कोर्ट( Suprem Court)

खबरदार ब्यूरो

घर बैठकर(Sitting in Home) नहीं होगी 10वीं और 12वीं( 10th class & 12th class) की बोर्ड परिक्षाएं( Board Examinations)- सुप्रीम कोर्ट( Suprem Court)

सुप्रीम कोर्ट ने CBSE के छात्रों की याचिका पर बड़ा फैसला लिया है, CBSE और ICSE बोर्ड के छात्रों ने बोर्ड परिक्षाओं को हाईब्रिड़ मोड़ में कराने के लिए याचिका दाखिल की थी यानि छात्र आगामी बोर्ड परिक्षाओं को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही मोड़ पर करवाना चाहते हैं इसका मतलब ये था कि था छात्र चाह रहे थे कि वो घर बैठकर ही बोर्ड के एग्जाम दें लेकिन शीर्ष अदालत ने ये कह कर याचिका खारिजकर दी कि अभी दोनों ही बोर्ड की परिक्षाओं का सेडूल जारी हो चुका है ऐसे में कोई फैसला देना बोर्ड परिक्षाओं की तैयारियों पर असर डाल सकता है

गौरतलब है कि CBSE के 10वीं और 12 वीं के कई छात्रों ने सुप्रीम कोर्ट में बोर्ड परिक्षाओं को हाईब्रिड मोड़ पर कराने के लिए याचिका दाखिल की थी, लेकिन कोर्ट ने सभी याचिकाएं रद्द कर दी

KHABARDAR Express...

घर बैठकर(Sitting in Home) नहीं होगी 10वीं और 12वीं( 10th class & 12th class) की बोर्ड परिक्षाएं( Board Examinations)- सुप्रीम कोर्ट( Suprem Court)

 

याचिका की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने CBSE और ICSE को 10वी और 12वीं बोर्ड परिक्षाओं में बैठने वाले छात्रों के लिए हाईब्रिड माध्यम यानि कि ऑनलाइन और ऑफलाइन व्यवस्था करने का आदेश देने से साफ तौर से मना कर दिया है

इस याचिका की सुनवाई करते हुए जस्टिस एएम खानविलकर और सीटी रविकुमार की पीठ ने इस याचिका को ये कहकर खारिज कर दिया है कि CBSE बोर्ड के सेमिस्टर एग्जाम 16 नवम्बर से शुरू हो चुकी हैं और ICSE बोर्ड के सेमिस्टर एग्जाम 22 नवम्बर से शुरू होने जा रहे हैं इसलिए फिलहाल परिक्षाओं के आयोजन में किसी भी तरह का आदेश देना बोर्ड परिक्षाओं की आयोजन परिक्रिया को प्रभावित कर सकता है

KHABARDAR Express...

वहीं कोर्ट के आदेश के बाद सीबीएसई ने कहा है कि बोर्ड परिक्षाओं के आयोजन में कोविड प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा

याचिका की सुनवाई के दौरान CBSE ने कोर्ट को बताया कि ऑफलाइन परिक्षाओं के दौरान हर तरह की एहतियात बरती जाएगी इसीलिए परिक्षा केन्द्रों की संख्या इस बार 15000 तक बढ़ा दी गई है

घर बैठकर(Sitting in Home) नहीं होगी 10वीं और 12वीं( 10th class & 12th class) की बोर्ड परिक्षाएं( Board Examinations)- सुप्रीम कोर्ट( Suprem Court)

 

सीबीएसई की तरफ से पेश हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने न्यायमूर्ति एएम खानविल्कर और न्यायमूर्ति सीटी रविकुमार की पीठ को बताया कि ऑफलाइन माध्यम से बोर्ड पपरिक्षाएं कराने के लिए सभी एहतियात बरती गई हैं और परिक्षा केन्द्रों की संख्या इस बार 6500 से बढ़ाकर 15000 कर दी गई हैं ताकि सोशल डिस्टेंसिग का सही पालन हो सके पीठ ने कहा कि उम्मीद की जानी चाहिए कि सभी बोर्ड बच्चों के स्वास्थ्य को देखते हुए सभी जरुरी एहतियात बरतेंगे जिससे सबकुछ सही से पूरा हो सके और कुछ अप्रिय घटित भी ना हो

घर बैठकर(Sitting in Home) नहीं होगी 10वीं और 12वीं( 10th class & 12th class) की बोर्ड परिक्षाएं( Board Examinations)- सुप्रीम कोर्ट( Suprem Court)

KHABARDAR Express...

देश दुनिया में जिस तरीके से पिछले कई दिनों से कोरोना महामारी काबू में है ऐसे में बोर्ड परिक्षों के लिए सुप्रीम कोर्ट का ये आदेश समय पर दिया गया सटीक फैसला है क्योकिं लम्बे अरसे से बच्चें घरों से ही पढ़ाई कर रहे हैं और पिछले साल तो सभी बोर्ड ने बिना परिक्षा लिए ही बच्चों को पास कर दिया था हालांकि उस वक्त वो मजबूरी थी क्योकि उस वक्त जिंदगी जरुरी थी और जान की कीमत पर परिक्षाएं नहीं ली जा सकती हैं लेकिन अब जब सब कुछ धीरे धीरे सामान्य हो रहा है ऐसे में अब भी रियायतें लेना और वो भी पढ़ाई के मामले में देश की युवा पीढ़ी के भबिष्य पर जंग ही लगाएंगी, इसीलिए सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले की जरुर तारीफ होनी चाहिए

 

 

 

 

 

 

 

 

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *