मिजोरम पुलिस( Mijoram Police) ने असम ( Asam)के CM हेमंत बिस्वा सरमा ( Hemant Biswa sarma)के खिलाफ दर्ज की FIR, 1 अगस्त को थाने में हाजिर होने का भी फरमान जारी

खबरदार ब्यूरो

मिजोरम पुलिस( Mijoram Police) ने असम ( Asam)के CM हेमंत बिस्वा सरमा ( Hemant Biswa sarma)के खिलाफ दर्ज की FIR, 1 अगस्त को थाने में हाजिर होने का भी फरमान जारी,मिजोरम और असम के बीच विवाद में एक नयां मोड़ आ गया है शुक्रवार को मिजोरम पुलिस ने असम के CM के खिलाफ FIR दर्ज की है और उनको 1 अगस्त को थाने में पेश होने को कहा गया है मिजोरम और असम पुलिस बल के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद सोमवार देर रात को राज्य पुलिस की तरफ से वैरेंगते थाने में एफआईआर दर्ज की गई थी. असम पुलिस के 200 अज्ञात कर्मियों के खिलाफ भी मामले दर्ज किए गए हैं. वहीं शुक्रवार को मिजोरम पुलिस ने कोलासिब जिले के वैरेंगते नगर के बाहरी हिस्से में हुई हिंसा के मामले में असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा, राज्य पुलिस के चार वरिष्ठ अधिकारियों और दो अन्य अधिकारियों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज किए हैं. पुलिस ने शुक्रवार को ये जानकारी दी.

KHABARDAR Express...

मिजोरम के पुलिस महानिरीक्षक (मुख्यालय) जॉन एन ने बताया कि इन लोगों के खिलाफ हत्या का प्रयास और आपराधिक साजिश समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा कि सीमांत नगर के पास मिजोरम और असम पुलिस बल के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद सोमवार देर रात को राज्य पुलिस की तरफ से वैरेंगते थाने में एफआईआर दर्ज की गई थी. साथ ही कहा कि असम पुलिस के 200 अज्ञात कर्मियों के खिलाफ भी मामले दर्ज किए गए हैं.

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा को एक अगस्त को थाने में पेश होने को कहा

एफआईआर कथित तौर पर मिजोरम के वैरेंगते जिले में प्रवेश करने और कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने और भारतीय दंड संहिता के साथ मिजोरम रोकथाम और कोविड -19 अधिनियम 2020 की रोकथाम के तहत दर्ज की गई है. मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा और दूसरे लोगों को एक अगस्त को थाने में पेश होने को कहा गया है.

KHABARDAR Express...

वहीं असम की तरफ से अपने नागरिकों को पड़ोसी राज्य की यात्रा नहीं करने के लिए कहने पर मिजोरम ने फैसले की निंदा की है. असम के गृह सचिव एम एस मणिवन्नन की तरफ से जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि मौजूदा परिस्थिति को देखते हुए असम के लोगों को सलाह दी जाती है कि वो मिजोरम की यात्रा न करें, क्योंकि ये स्वीकार नहीं किया जा सकता कि असम के लोगों को कोई भी खतरा हो. उधर मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथांगा ने ट्वीट कर कहा कि सभी को सार्वजनिक सूचना. पूर्वोत्तर भारत हमेशा एक रहेगा. साथ ही कहा कि मैं अब भी केंद्र सरकार से असम-मिजोरम सीमा तनाव के सौहार्दपूर्ण समाधान की उम्मीद करता हूं.

असम-मिजोरम सीमा पर तनाव को देखते हुए  कश्मीर से सीआरपीएफ के कमांडो बुलाए जाएंगे अब तक

सीआरपीएफ जवानों की 13 कंपनियां, जिनमें 147 बटालियन में से सात, 119 बटालियन की दो और 156,

10, 219 और 28 बटालियन में से एक-एक को सीमा पर असम की तरफ ड्यूटी के लिए सौंपा गया है.

KHABARDAR Express...

कछार में असम-मिजोरम अंतरराज्यीय सीमा पर कश्मीर से सीआरपीएफ कमांडो का एक विशेष दल तैनात किया जाएगा. जिला पुलिस के सूत्रों ने ये जानकारी दी है. विशेष टीम को तैनात करने का फैसला सोमवार को सीमा के पास लैलापुर में असम के छह पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद आया है. कछार जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने शुक्रवार को कहा कि सीआरपीएफ के आईजी सरबजीत सिंह ने गुरुवार को लैलापुर का दौरा किया और स्थिति का जायजा लिया.

एक सूत्र ने बताया कि उन्होंने असम और मिजोरम के पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की और उन्हें केंद्र के निर्देशों के बारे में बताया. अब तक सीआरपीएफ जवानों की 13 कंपनियां, जिनमें 147 बटालियन में से सात, 119 बटालियन की दो और 156, 10, 219 और 28 बटालियन में से एक-एक को सीमा पर असम की तरफ ड्यूटी के लिए सौंपा गया है. इसी तरह तीन कंपनियों जिनमें 140 बटालियन में से एक और 225 बटालियन में से दो को मिजोरम की तरफ तैनाती के लिए सौंपा गया है.

KHABARDAR Express...

साल 1995 से जारी है दोनों राज्यों के बीच सीमा विवाद

मिजोरम और असम 164.6 किलोमीटर लंबी सीमा शेयर करते हैं. दोनों राज्यों के बीच सीमा विवाद को सुलझाने के लिए 1995 से केंद्र सरकार की मौजूदगी में दोनों राज्यों के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन ये मामला समय-समय पर भड़कता रहा है. इस बीच असम पुलिस ने शुक्रवार को लुरिनज्योति गोगोई के नेतृत्व में असम जातीय परिषद की एक टीम को सीमा पर जाने से रोक दिया गया था.

 

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *