गिरफ्त में आया अलीगढ़ शराब कांड का सौदागर

खबरदार ब्यूरो

अलीगढ़ में शराब का कहर जारी है। जिले में 108 लोगों की जान जहरीली शराब से जा चुकी है। पुलिस ने शराब कांड के मुख्य आरोप ऋषि शर्मा को रविवार सुबह बुलंदशहर बॉर्डर से गिरफ्तार कर लिया है। उस पर एक लाख रुपये का इनाम रखा गया था। इससे पहले शनिवार को एक दूसरे आरोपी जिसपर 25 हजार का इनाम रखा गया था उसको भी गिरफ्तार कर लिया था। वहीं भाजपा नेता ऋषि शर्मा के अवैध रूप से बने फार्म हाउस को जेसीबी चलवाकर ध्वस्त करा दिया गया था।

KHABARDAR Express...

जहरीली शराब से लोगों की मौत होने का सिलसिला नहीं थम पा रहा है। शिकंजा कसे जाने के बाद कार्य‌वाही के डर से माफियाओं ने जहरीली शराब नहरों में बहा दी है। जिसकी वजह से सबसे पहले जवां नहर में बहकर मिले देशी शराब के पउए पीने से 10 मजदूरों की मौत हो गई थी। इसी तरह से अकराबाद में शेखा नहर में मिले पऊए पीने से मजदूरों की हालत बिगड़ गई थी। शनिवार को बिहार निवासी पांच मजदूरों की मौत जेएन मेडीकल कॉलेज में उपचार के दौरान हो गई।

शराब कांड के फरार चल रहे आरोपी भाजपा नेता के फार्महाउस पर चली जेसीबी
शराब कांड के फरार चल रहे मुख्य आरोपी भाजपा नेता बीडीसी ऋषि शर्मा के थाना जवां क्षेत्र स्थित फार्म हाउस पर शनिवार को प्रशासन ने जेसीबी चलवा दी। एसडीएम कोल रंजीत सिंह के नेतृत्व में गई टीम ने गांव छेरत में ध्वस्तीकरण की कार्यवाही की। फार्म हाउस का कुछ भाग सरकारी जमीन घेरकर भी बनाया जाने की बात प्रशासन की जाचं में सामने आ चुकी है।

नहर में तलाशा जा रहा है अ‌वैध शराब का जखीरा, दो दिन बंद रहेगी ऊपरी गंग नहर, जवां और अकराबाद इलाकों में नहर में बहकर आई अवैध शराब के सेवन से कई लोगों की जान जा चुकी हैं। ऐसे में अब सिंचाई विभाग ऊपरी गंगा नहर की सफाई कराने के साथ ही अवैध शराब को खोजकर नष्ट करेगा। डीएम ने सिंचाई विभाग को दो दिन नहर बंद करने निर्देश दिए हैं। विभाग नहर बंद कर नहर सफाई कराएगा।

KHABARDAR Express...

जिले में जहरीली शराब पीने से अब तक 104 लोगों की जान जा चुकी है। जहरीली शराब का मतलब, शराब में मिथाइल एल्कोहल की मिलावट। ऐेसे में अब तक आबकारी विभाग यही तय नहीं कर पाया कि मिथाइल एल्कोहल आखिर आया कहां से और कैसे आया, अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। विभाग का कहना है कि मिथाइल एल्कोहल के लिए कोई लाइसेंस जारी नहीं किया जाता है।

जहरीली शराब को बनाने में जिस जहर (मिथाइल अल्कोहल) का इस्तेमाल हुआ है। उसको लेकर अब तक अधिकारी कागजों में फंसे हुए हैं। आबकारी से लेकर ड्रग विभाग तक इसके नियंत्रण से अपना पल्ला झाड़ रहे हैं। अब सवाल यह है कि जब इसका नियंत्रण किसी विभाग के पास नहीं है तो औद्योगिक इस्तेमाल के लिए आने वाले इस केमिकल से भविष्य में फिर कभी जहरीली शराब न सके इसकी रोकथाम कौन करेगा। हैरानी की बात यह भी है कि जिले में कितना मिथाइल अल्कोहल आता है, कितने का इस्तेमाल औद्योगिक गतिविधियों में होता, कितना शराब बनाने के लिए हो रहा था, इसकी तह तक प्रशासन कैसे पहुंचेगा। हैरत की बात है कि आबकारी विभाग के पास इसका कोई रिकार्ड भी नहीं है।

प्रशासन की ओर से जो शराब माफिया घोषित किए गए है। उनके हैसियत प्रमाण पत्र भी निरस्त किए जाएंगे। डीएम चंद्रभूषण सिंह ने बताया कि इनके हैसियत प्रमाण पत्र, शस्त्र लाइसेंस निरस्त करने के लिए रिपोर्ट तैयार की जा रही है।

प्रशासन ने छापा मारकर अवैध शराब फैक्ट्रियों का खुलासा किया है। इन फैक्ट्रियों से शराब माफियाओ का कनेक्शन भी सामने आ चुका है। ऐसे में बड़ा सवाल उठता है कि फैक्ट्रियों का कैरियर कौन था। वह कौन था जो ठेकों से लेकर गांव तक में अवैध शराब की सप्लाई करता था।

KHABARDAR Express...

अलीगढ़ में मौत के सौदागरों ने नहर में मौत का सामान बहा दिया है। जवां व अकराबाद क्षेत्र में दर्जन भर मजदूरों की जहर का प्याला पीकर तडप तडपकर मौत हो गई है। नहर में फेंकी गई अवैध शराब को पीने से और जिंदगियों को बचाया जा सके, इसको लेकर अलीगढ पुलिस विभिन्न प्रयास कर रही है। एडवाइजरी जारी करने के बाद शुक्रवार को जिले के नहर से लगे 56 गांवों में सर्च अभियान चलाया गया। जिसमें काफी हद तक सफलता भी मिली है।

एसएसपी कलानिधि नैथानी की ओर से जारी की गई एडवाइजरी में जनता को सूचित किया गया कि अगर किसी को कहीं सार्वजनिक स्थान, सुनसान स्थान, खंडहर अथवा नदी नहर, नाला, झील, तालाब के आसपास क्षेत्रों, किनारों या दूसरे किसी स्थान पर लावारिश शराब, पव्वे, बोतल आदि पड़ी मिलती है या कोई व्यक्ति फुटकर शराब बेचता या बांटता हुआ मिलता है या पाया जाता है तो ऐसी शराब का सेवन न करें। वह जहर हो सकती है, जिससे मृत्यु तक हो सकती है । ऐसे व्यक्ति और पड़ी लावारिश शराब के संबंध में सूचना तत्काल यूपी-112 नंबर कॉल करके दें। एसएसपी ने सभी पुलिसकर्मियों को निर्देश देते हुए कहा कि वह अपने-अपने कार्य क्षेत्र ग्रामों कस्बों मौहल्लों में अधिक से अधिक जानमानस को जागरुक करे। जनपद में नहरें जिन-जिन क्षेत्रों से होकर गुजरती है, उसके आसपास के क्षेत्रों/किनारों पर सघन चैकिंग करा लेद्ध तथा नहरों के आसपास के ग्रामों /कस्बों/मुहल्लों में मुनादी करा दें कि यदि नहरों के आस-पास जहरीली शराब की बोतलें मिलती है, तो उसका सेवन कादपि न करें और लावरिस पडी शराब के संबंध में तत्काल यूपी 112 पर कॉल कर तत्काल सूचना दें। आसपास/सीमावर्ती एटा, कासगंज, मथुरा आदि जनपदों के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, पुलिस अधीक्षक और सिचाई विभाग से भी नहरों के दोनों तरफ विस्तृत चेकिंग करवाने एवं सघन चेकिगं कर अवैध बोतलें बरामद करने मेंं पुलिस की सहायता हेतु उक्त संबंध में पत्राचार किया गया है। सिचाई विभाग से अपनी खुद की इंस्पेकशन टीम को भी सक्रिय करने को कहा गया है।

KHABARDAR Express...

नहर में बहायी गई शराब का कोई सेवन न करें, इसके लिए जागरुकता अभियान चलाया गया है। आसपास के जिलों में भी पुलिस अधिकारियों से पत्राचार किया गया है। सिचाई विभाग को भी इंस्पेक्शन टीम को सक्रिय करने के लिए कहा गया है। जिले के 56 ऐसे गांव जो नहर से लगे हुए हैं, उनमें सर्च अभियान भी चलाया गया है।

अलीगढ़ शराब कांड में पुलिस ने मुख्य आरोपी अनिल चौधरी के साले व 25 हजार के इनामी नीरज चौधरी सहित जहरीली शराब की सप्लाई करने वाले ठेकेदार चोब सिंह और बनवारी लाल को गिरफ्तार कर लिया है।

नीरज चौधरी शराब माफिया राष्ट्रीय लोक दल के नेता अनिल चौधरी का साला है। शराब प्रकरण में अब तक जिले के विभिन्न थानों में अब तक कुल 17 अभियोग पंजीकृत हुए हैं। 40 गिरफ्तार हुए हैं। इससे पहले पुलिस 50 हजार के इनामी विपिन यादव और 25 हजार के इनामी मुनीश शर्मा को गिरफ्तार कर चुकी है पुलिस ने तीन दिन पहले आरोपी मुनीश शर्मा, उस का भांजा आकाश और शिव कुमार को रिमांड पर लिया था। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि कस्टडी रिमांड पर लिए गए आरोपी शिवकुमार ने पुलिस को बताया कि चोब सिंह पुत्र राम सिंह बनवारी पुत्र ओमप्रकाश निवासी चोमू थाना अतरौली यह दोनों ही उनको जहरीली शराब बनाने का सामान देते थे। और ज्यादा सख्ती से पूछताछ करने पर आरोपियों ने स्वीकार किया कि हम शराब की पैकिंग पर लगने वाला क्यू आर कोड, रैपर, ढक्कन, बोतल, अल्कोहल आदि सामान शिवकुमार को ही देते थे। जो 50 शराब के क्वार्टर मिले हैं वह नकली और मिलावटी शराब है।

जहरीली शराब कांड में आरोपियों की निशानदेही पर जो भी नाम प्रकाश में आ रहे हैं और लोगों की धरपकड़ का काम जारी है। अब तक शराब कांड में 7476 लीटर अवैध शराब पकड़ी जा चुकी है। इसके अलावा 5723 नकली ढक्कन, 3200 से ज्यादा रैपर, 5410 क्यूआर कोड रैपर, 1000 लीटर स्प्रिट, 150 से अधिक अवैध शराब की पेटी, पैकिंग कार्टून, तीन चार पहिया गाड़ियां बरामद की जा चुकी हैं।

Americ/ chaina/ covid19/corona/ wohwn lab chaina/ word news/ india/ news/ medical news / WHO/ UNO/ britain/ delhi/ Modi/ kejriwal/ sports/ vaishnavdevi temple jammu/ fire

Post Options

WINE, LIQUER, UP, ALIGARH, DUPLICATE WINE SCANDLE/ CHIEF MINISTER YOGI/ AGRA TAJMAHAL/ VARANASI/ LUCKNOW/ ALIGAR LOCK/ HATHRAS/ UP POLICE/ ALLAHBAD/ PARYAGRAJ/ KUMBH/ YOGI CABINET/ RESUFFLE IN UP

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *