राममंदिर की कमान रहेगी अब RSS के इस योद्धा के हाथ, दूसरे योद्धा भी चुनाव तक यूपी में डेरा डालेंगे

खबरदार ब्यूरो

राम जन्म भूमि जमीन से जुड़े आरोपों के बीच भैयाजी जोशी को मिल सकती है राम मंदिर प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी अयोध्या में जारी राम मंदिर निर्माण को लेकर अब राष्ट्रीय स्वयंसवेक संघ खुद एक्टिव हो गया है. हाल ही में ट्रस्ट पर जमीन खरीद के मामले में गड़बड़ी के आरोप लगे थे, ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि RSS अब मंदिर निर्माण प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी में बदलाव कर सकता है.

KHABARDAR Express...

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में जारी राम मंदिर के निर्माण पर हर किसी की नज़र है. हाल ही में जमीन खरीद से जुड़े विवाद के कारण राम मंदिर ट्रस्ट पर काफी सवाल खड़े हुए थे. इन तमाम आरोपों के बीच अब राष्ट्रीय स्वयंसवेक संघ (RSS) सक्रिय हुआ है, माना जा रहा है कि जल्द ही मंदिर निर्माण की देखरेख के जिम्मे को बदला जा सकता है. सूत्रों के मुताबिक, पूर्व में RSS के सहकार्यवाह रहे भैयाजी जोशी को अब मंदिर निर्माण प्रोजेक्ट के देखरेख की जिम्मेदारी दी जा सकती है इतना ही नहीं, RSS के मौजूदा सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले भी उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों तक यूपी में ही प्रवास करेंगे, ताकि विधानसभा चुनावों की गतिविधि पर संघ की नज़र रहे. RSS की कोशिश है कि मंदिर निर्माण से जुड़े विवाद को खत्म किया जाए, ताकि किसी तरह का विपरीत माहौल ना बन पाए. RSS पूरी कोशिश में लगा हुआ है कि अगले साल के विधान सभा चुनाव में BJP को हर हाल में जीत दिलाई जाय, मौजूदा हालत में इसके आसार कम ही लग रहे हैं इसीलिए संघ अपने दो बड़े नेताओं को यूपी जिम्मेंदारी दे रहा है जिससे साल 2022 के चुनाव में पार्टी की दुबारा से सत्ता में वापसी कराई जा सके, इसके लिए संघ नें अभी से कमर कसनी शुरु कर दी है, सीएम योगी और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर् के बीच का विवाद किसी से छिपा नहीं है  ऐसे में अब ये फैसला लिया जा रहा है.  गौरतलब है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का ये फैसला तब आया है, जब हाल ही में राम मंदिर से जुड़ी जमीन की खरीद को लेकर सवाल खड़े हुए थे.  श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने जो जमीन खरीदी थी, उसमें गड़बड़ी की बात सामने आई थी जिसके बाद आम आदमी पार्टी, कांग्रेस, समाजवादी पार्टी ने ने इसे एक बड़ा मसला बनाया था. आरोप लगा था कि ट्रस्ट ने एक जमीन साढ़े 18 करोड़ रुपये में खरीदी थी, जबकि उसकी कीमत 2 करोड़ रुपये थी. इसके अलावा भी अन्य आरोप लगाए गए थे.

KHABARDAR Express...

 मंदिर निर्माण से जुड़ी जिम्मेदारी भैयाजी जोशी को मिलने की अटकलों के बीच आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह की प्रतिक्रिया भी आ गई है.  संजय सिंह ने ट्वीट कर लिखा है कि तो क्या RSS भी मान रहा है कि BJP और ट्रस्ट वाले भ्रष्ट हैं? AAP सांसद ने अपने ट्वीट में लिखा कि प्रभु श्री राम के मंदिर निर्माण के केयरटेकर तो बनेंगे भैया जी जोशी लेकिन क्या इसकी कोई क़ानूनी वैधता है तो आखिर जांच क्यों नही हो रही? जेल कब जाएंगे भ्रष्टाचारी? बता दें कि संजय सिंह पहले भी इस मसले को जोर-शोर से उठाते आए हैं और इस मामले में शिकायत भी दर्ज करवा चुके हैं अयोध्या के कई साधु-संत सीधे तौर पर ट्रस्ट के पक्ष में खड़े हैं और जमीन खरीद में धांधली का आरोप लगाने वाले आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह पर राम मंदिरनिर्माण में अवरोध उत्पन्न करने का आरोप लगाकर उनकी मानसिक स्थिति पर सवाल उठा रहे हैं.

KHABARDAR Express...

 अयोध्या में राम मंदिर ट्रस्ट द्वारा खरीदी गई जमीन के विवाद ने साधु-संतों को भी दो गुटों में बांट दिया है. संतों का एक गुट श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के पक्ष में खड़ा है तो दूसरा गुट जमीन खरीद-फरोख्त में धांधली और भ्र्ष्टाचार आरोप लगाकर उच्चस्तरीय जांच की मांग कर रहा है. वहीं कुछ साधु संत ऐसे भी हैं जो किसी गुट के साथ न होकर तटस्थ की भूमिका में हैं. अयोध्या में मंगलवार को महंत धर्मदास समेत कई बड़े संतों ने राम मंदिर के लिए खरीदी जा रही जमीन में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए सरयू तट पर हनुमान चालीसा का पाठ किया. इसके बाद अयोध्या के रक्षक कहे जाने वाले हनुमान जी को एक ज्ञापन सौंपा. ज्ञापन में राम मंदिर को लेकर आ रही विध्न बाधाओं को दूर करने और ट्रस्ट पर लग रहे आरोपों की किसी शीर्ष एजेंसी से जांच कराने की प्रार्थना की गई है. जाहिर है अब अयोध्या में ऐसे साधु-संतों की संख्या बढ़ती जा रही है जो ट्रस्ट पर लग रहे आरोपों की जांच चाहते हैं.

KHABARDAR Express...

निर्वाणी अखाड़ा के महंत धर्मदास ने कहा, ‘लोगों ने जो राम मंदिर निर्माण के लिए पैसे दिए हैं और देश में जो अराजक व्यवस्था फैली हुई है. यह लुटेरों का विंग बन गया है. चम्पत राय, अनिल मिश्र, कितने लोग हैं, जो इस तरह से जमीन में घोटाला हो रहा है. लोग राम जी की संपत्ति का बंदरबांट कर रहे हैं इस पर हमलोग केंद्र सरकार से जांच करने की मांग कर रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट को इस पर संज्ञान लेकर जांच करानी चाहिए. अलग-अलग तरह से जांच कराई जाए. केंद्र सरकार भष्टाचारी और पैसा लूटने वालों की जांच कराए. अब सीबीआई जांच करे या दुनिया की कोई एजेंसी, जांच होनी चाहिए. भ्रष्टाचार के केंद्र में जो लोग बैठे हैं उनको  अयोध्या से खदेड़ा जाएगा और अयोध्या की जनता लाठी मारकर भगाएगी.

KHABARDAR Express...

हालांकि कई साधु-संत सीधे तौर पर ट्रस्ट के पक्ष में खड़े हैं और जमीन खरीद में धांधली का आरोप लगाने वाले आम आदमी पार्टी नेता संजय सिंह  पर राम मंदिर निर्माण में अवरोध उत्पन्न करने का आरोप लगाकर उनकी मानसिक स्थिति पर सवाल उठा रहे है. तपस्वी छावनी के संत परमहंस ने कहा कि श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट निष्ठा और ईमानदारी के साथ में मंदिर निर्माण कार्य कर रहा है और भारतीय जनता पार्टी के प्रत्येक लोग जय श्री राम भी बोल रहे हैं और सहयोग भी कर रहे हैं. भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रवाद के मार्ग पर चल रही है इसलिए हम साधु-संत 

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *