Sunday, May 9, 2021
Dark black and orange > Uncategorized > गजब हाल, सुशांत की मौत के बाद सोशल मीडिया पर बंगाली महिलाओं को किया जा रहा ट्रोल, केस दर्ज

गजब हाल, सुशांत की मौत के बाद सोशल मीडिया पर बंगाली महिलाओं को किया जा रहा ट्रोल, केस दर्ज

कोलकाता पुलिस ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद सोशल मीडिया पर महिलाओं के खिलाफ साइबर ट्रोलिंग की कई शिकायतों की जांच शुरू की है.

रिर्पोट- आर सी ढौंडियाल

रिया चक्रवर्ती (फाइल फोटो- पीटीआई)रिया चक्रवर्ती ( फाइल फोटो)

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में हर रोज नये खुलासे हो रहे हैं अब इस मामले में सुशांत सिंह की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती भी सवालों के घेरे में है. ऐसे में सोशल मीडिया पर रिया चक्रवर्ती पर भी खूब निशाना साधा जा रहा है. इसके साथ ही सोशल मीडिया पर बंगाली महिलाओं को भी ट्रोल किया जा रहा है, जिसको लेकर कोलकाता पुलिस ने केस भी दर्ज किया है.

कोलकाता पुलिस ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद सोशल मीडिया पर महिलाओं के खिलाफ साइबर ट्रोलिंग की कई शिकायतों की जांच शुरू की है. पुलिस ने पश्चिम बंगाल महिला आयोग (डब्ल्यूबीसीडब्ल्यू) के जरिए कई शिकायतों के बाद फेसबुक और ट्विटर को लिखकर कुछ खास मामलों के बारे में जानकारी मांगी है.

पश्चिम बंगाल महिला आयोग की अध्यक्षा लीना गांगुली के मुताबिक पिछले एक सप्ताह में 30 से अधिक शिकायतें आईं हैं. जिनमें पीड़ितों ने सोशल मीडिया पर ‘बंगाली’ महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार और बदनाम करने के प्रयासों की शिकायत की है

लीना गांगुली ने कहा, ‘यह एक चिंताजनक आदत बन चुकी है. खासकर सुशांत सिंह राजपूत मामले के बाद अक्कसर देखा जा रहा है कि एक बंगाली लड़की को लेकर जांच चल रही है. लोगों की धारणा यह है कि उसने सुशांत को मार डाला है और इस तरह सभी बंगाली महिलाओं को ट्रोल किया जा रहा है.’

अपमानजनक टिप्पणी

उन्होंने कहा, ‘हम इसे बंगाली महिलाओं के खिलाफ एक मामले के रूप में नहीं लाना चाहते. अपमानजनक टिप्पणी का इस्तेमाल कर महिलाओं को निशाना बनाया जा रहा है. ऐसे कामों में लिप्त रहने वाले अक्सर सोचते हैं कि वे इससे बच सकते हैं क्योंकि पुलिस इसे गंभीरता से नहीं लेगी.’

आपको बता दें कि जब से अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के परिवार ने एक एफआईआर में रिया चक्रवर्ती का नाम लिया है, तब से बंगाली महिलाओं के खिलाफ एक ऑनलाइन आलोचना की शुरुआत हुई है. इस दौरान गोल्डडिगर, काला जादू जैसे कई शब्दों के जरिए बंगाली महिलाओं पर निशाना साधा जा रहा है.

जांच शुरू

हालांकि पुलिस ने कोलकाता के एक युवा मनोवैज्ञानिक के जरिए दर्ज की गई एक विशेष शिकायत के आधार पर जांच शुरू कर दी है. संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मुरलीधर शर्मा के मुताबिक सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 67ए, भारतीय दंड संहिता की धारा 354डी, 509 और 120बी के तहत मामला दर्ज किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *