Sunday, May 9, 2021
Dark black and orange > Uncategorized > खदानों में ब्लास्टिंग से होता पलायन

खदानों में ब्लास्टिंग से होता पलायन

आर सी ढौडियाल

बागेश्वर 

 अल्मोडा मैगनेसाईड झिरौली काफलीगैर बागेश्वर  कभी धूराफाट क्षेत्र के 50 से अधिक गॉवो के ग्रामीणो को रोजगार देता था । लेकिन वर्तमान में कुछ परिवार वादी ताकतो के बीच  सिमट गई है।  केवल परिवारवादी लोगे का  रोजगार पीढी दर पीढी चल रहा है ।ग्रामीणों ने  मैगनेसाईड प्रबंधन पर अनेक आरोप लगाते हुए कहा कि बरसात के दिनों में भी प्रतिबंधित खदान संख्या 02 और 03  मे खनन का कार्य जारी किया हुआ है।   ग्रामीण जिला प्रशाशन के दरबाजे में भी अनेक बार फरियाद लगा चुके हैं! अब ग्रामीणो ने  शाशन से सुध लेने की गुहार लगायी है।

 मैगनेसाईड झिरौली काफलीगैर  से प्रभावित गॉमीणो का कहना है कि  कोई सुनने वाला नही है। हमारी कहानी बहुत ज्यादा खराब है। हमे  ना काम मिल रहा है । ब्लास्टिग से लोग पलायन भी कर रहे है। रात को बारिस होती है। तो रात काटनी मुश्किल हो जा रही है। हम लगातार फरियाद लगा चुके है हमारी आवाजो को सुनने वाला कोई नहीं है! 

   2005 से  मे  इलाके  को  बचाने  की  लड़ाई  लड़  रहा  हूँ ।मैगनेसाईड झिरौली की  01 नबंर 02 नबंर और 03 नबंर खदान मे कोई लीज नही है। अभी भी खनन हो रहा है। मलवा झिरौली से लेकर नैडी तक आता है पूरी खेती बहा दी है।  कपंनी का कोई लाभ ग्रामीणो को नही मिल पा रहा है । मैगनेसाईड मे लगातार नौकरी के लिये संघर्ष करने वाले युवा आज भी जिला प्रशाशन के दरवाजे तक आ रहे है। लेकिन जिला प्रशाशन के दरवाजे पर ग्रामीणो का निराशा हाथ लग रही है। केवल आश्वसनो के आधार पर दिन कट रहे है।

 जब हमने इस बारे में ए. एम. एल. प्रबंधन से बात करनी चाही तो अनेक बार चक्कर लगाने के बाद भी उन से बात नहीं हो पाई! 

   मैगनिसाईड द्वारा जिस तरह से प्रतिबंधित खदानो मे खनन किया जा रहा है। और उन खदानो से गाडियो की  आवाजाई बेरोक टोक हो  रही है। इससे यह साफ पता चलता है कि  मैगनेंसाईड प्रबंधक  को किसी कि डर भय तक नही है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *