क्या आवाज से भी हो सकती है कोरोना की जाँच! हिन्दुस्तान के इस प्रदेश में होगी अब आवाज से कोरोना की जाँच

आर सी ढौंडियाल

अब कोरोना की टेस्टिंग के लिए महाराष्ट्र सरकार एक नई तकनीक को  कोरोना की टेस्टिग करनेके लिए इस्तेमाल में लाने जा रही है. इस तकनीक की खास बात ये है इंसान में कोरोना है या नहीं  इस बात का पता महज उसकी आवाज से ही आसानी से पता लगाया जा सकता है

    शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने जानकारी दी  है कि अब महाराष्ट्र में आवाज से कोरोना का टेस्ट हो सकेगा देश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. महाराष्ट्र इस वक्त कोरोना प्रभावित राज्यों में टॉप पर है. गौरतलब है कि महाराष्ट्र में इन दिनों कोरोना मरीजों की तादात तेजी से बढ़ती जा रही है. अब महाराष्ट्र सरकार कोरोना टेस्टिंग के लिए एक नई तकनीक का इस्तेमाल करने जा रही है. इस तकनीक के बाद आवाज से ही कोरोना की जांच हो जाएगी.

   ऐसा हम नहीं खुद शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने कहा है. आदित्य ने ट्विटर पर इस बारे में जानकारी दी है. आदित्य ठाकरे ने ट्वीट किया, ‘बीएमसी आवाज के नमूनों का उपयोग करके AI-आधारित कोविड टेस्टिंग का एक परीक्षण करेगी. आरटी-पीसीआर टेस्टिंग भी होती रहेगी, लेकिन दुनियाभर में टेस्ट की गई तकनीकें साबित करती है कि महामारी ने हमें हमारे स्वास्थ्य ढांचे में तकनीक के उपयोग से चीजों को अलग तरह से देखने और विकसित करने में मदद की है.

महाराष्ट्र में कोरोना से निपटने के लिए सरकार लगातार नए कदम उठा रही है. ऐसे में वॉयस सैंपल से टेस्टिंग भी एक अलग कदम ही है. राज्य में कोरोना की स्थित पर बात करें तो शनिवार को 11 हजार 81 मरीज ठीक होकर डिस्चार्ज हुए हैं. इसके बाद मरीजों के ठीक होने का आंकड़ा 3 लाख 38 हजार 262 हो गया है.

शनिवार तक महाराष्ट्र में रिकवरी रेट 67.26 प्रतिशत था और 12 हजार 822 नए केस सामने आए थे. कोरोना से 275 लोगों की मौत हुई थी. 26 लाख 47 हजार 20 सैंपल में से 5 लाख 3 हजार सैंपल पॉजिटिव पाए गए थे. सूबे में अभी 9 लाख 89 हजार 612 मरीज होम क्वारनटीन हैं और 35 हजार 625 इंस्टीट्यूशनल क्वारनटीन है. महाराष्ट्र में कुल 1 लाख 47 हजार 48 एक्विट केस हैं.

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *