Sunday, May 9, 2021
Dark black and orange > World News > Recent News > कोरोना संकट में दिव्यांग शिक्षक ने पेश की अनूठी मिसाल, बच्चों को उनके घर जाकर पढ़ाते हैं

कोरोना संकट में दिव्यांग शिक्षक ने पेश की अनूठी मिसाल, बच्चों को उनके घर जाकर पढ़ाते हैं

आर सी ढौड़ियाल

कोरोना में किया दिव्यांग टीचर ने ये कारनामा

KHABARDAR Express...

शिक्षक ने कारनाम कुछ ऐसा ही किया है कि इलाके के लोगो के बीच रोज इस शिक्षक की चर्चा हो रही है, दरअसल रामेश्वर नागरिया नाम के इस दिव्यांग शिक्षक ने एक अनोखा काम किया है आपको बता दें कि मध्य प्रदेश सरकार ने बच्चों की पढाई का कोरोना के चलते हर्जा ना हो इसके लिए सरकार ने जुलाई महीने में अपना घर, अपना विद्धालय नाम से एक योजना लॉच की है इसके तहत स्कूली बच्चों को उनके घर पर उनके स्कूल के शिक्षक पढाने के लिए, घर पर जाते हैं, रामेश्वर नागरिया नाम के ये शिक्षक खुद भी सरकारी टीचर हैं और दिव्यांग भी हैं लेकिन इनके काम की जरूर तारीफ होनी चाहिए रामेश्वर दिव्यांग होने के बावजूद भी रोज अपनी स्कूटी से बच्चों को पढाने ग्रामीण इलाके में जाते हैं और सुबह 10 बजे से लेकर 1 बजे तक बच्चों को पढ़ाते हैं इस दौरान वो बच्चों को होम वर्क भी देते हैं इसके अलावा बच्चों का होम वर्क चेक भी करते हैं

कोरोना में किया दिव्यांग टीचर ने ये कारनामा

गौरतलब है कि लॉक डाउन के चलते आज पूरे देशभर के स्कूल बंद हैं लेकिन निजि स्कूल अभी भी बच्चों को ऑन लाइन शिक्षा दे रहे हैं ऐसे में सबसे बड़ी दिक्कत सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की हैं कोरोना लॉक डाउन की बजह से सबसे ज्यादा पढ़ाई का नुकसान सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों का हो रहा है ऐसे में कई प्रदेश सरकारें बच्चों के भबिष्य के खातिर कुछ जरूरी फैसला भी लें रहे हैं एसा ही फैसला मध्य प्रदेश की शिव राज चौहान सरकार ने लिया है दरअसल कोरोना लॉक डाउन के चलते स्कूली बच्चों की पढ़ई का खासा नुकसान हो रहा है ऐसे में एमपी की सरकार ने बीते 7 जुलाई को फैसला लिया कि सभी सरकारी सिक्षक खुद पढ़ाने के लिए अपनी स्कूल के बच्चों के घर पर पढ़ाने जायेंगे और रोज बच्चों को घर पर ही पढ़ायीगे जिससे कोरोना काल में भी बच्चों की पढ़ाई का नुकसान ना हो सके

कोरोना में किया दिव्यांग टीचर ने ये कारनामा

दिव्यांग शिक्षक रामेश्वर नागरिया भी सरकारी फैसले के दिन से ही रोज अपनी स्कूल के बच्चों के घर जाते हैं और बच्चों को पूरी लगन से पढ़ाकर ही वापस जाते हैं रामेशवर के इस काम की इन दिनों मध्य प्रदेश में खूब चर्चा हो रही है सात ही खुद सीएम शिवराज सिंह ने ट्वीटर के जरिए रामेश्वर के इस काम की तारीफ की है इलाके के बच्चों के अभिभावक भी रामेशवर के इस काम की खूब तारीफ कर रहे हैं इलाके के चंदपूरा, खिलचिपुरा और जगतपुरा ग्रामीण अपने बच्चों की तालीम से काफी खुश हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *