कैबिनेट के फैसलों से नहीं लग सकेगी कोरो ना पर लगाम – प्रीतम सिंह

उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री प्रीतम सिंह ने गत दिवस हुई कैबिनेट बैठक के निर्णयों को महामारी और बेरोज़गारी के मद्देनजर निराश करने वाला बताया है। प्रीतम सिंह ने कहा संकटकाल में कैबिनेट बैठक के निर्णयो को लोग बड़ी आतुरता और उत्सुकता के साथ इंतजार करते है।
जनता यह अपेक्षा करती है कि राज्य सरकार संकटकाल को देखते हुए राज्य की जनता के हित में कुछ राहत भरे निर्णय कैबिनेट बैठक में लेगी।
लेकिन कैबिनेट बैठक के निर्णयो से एक बार फिर राज्य की गरीब जनता की झोली खाली ही रह गयी। राज्य की जनता को सरकार से आस थी कि कोई राहत पैकेज कारोबारियों के लिए और मुफ्त राशन की घोषणा गरीब लोगों के लिए सरकार की तरफ से की जाएगी परंतु जिस तरह से राज्य सरकार ने राज्य की जनता को 20 किलो अनाज के सपने दिखाकर बैठक के दौरान खाद्य विभाग के प्रस्ताव को ठुकरा दिया उससे राज्य की जनता में घोर निराशा व्याप्त हुई है ।


प्रीतम सिंह ने कहा कि आज विभिन्न सेक्टर में काम करने वाले लोगों पर महामारी की वजह से वज्रपात हुआ है उन पर आजीविका का संकट आन खड़ा हुआ है और ऊपर से महंगाई ने गरीब जनता की कमर तोड़ने का काम किया है ऐसे में राज्य की जनता को एक अदद राहत पैकेज की दरकार प्रचंड बहुमत और डबल इंजन की सरकार थी। पीसीसी अध्यक्ष के मुताबिक कैबिनेट के निर्णय से राज्य वासियों को घोर निराशा ही हाथ लगी है, प्रीतम सिंह ने कहा कि राज्य सरकार को संवेदनशीलता दिखाते हुए इस महामारी के दौर में जो भी लोग बेरोजगार हुए हैं और जिनके ऊपर रोजी-रोटी का संकट खड़ा हुआ है उनके लिए रोड मैप के तहत कार्य करने की जरूरत है।
प्रदेश प्रवक्ताप्रकाशनार्थ कैबिनेट के निर्णयों ने किया राज्य वासियों को निराश- प्रीतम सिंह उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री प्रीतम सिंह ने गत दिवस हुई कैबिनेट बैठक के निर्णयों को महामारी और बेरोज़गारी के मद्देनजर निराश करने वाला बताया है। प्रीतम सिंह ने कहा संकटकाल में कैबिनेट बैठक के निर्णयो को लोग बड़ी आतुरता और उत्सुकता के साथ इंतजार करते है। जनता यह अपेक्षा करती है कि राज्य सरकार संकटकाल को देखते हुए राज्य की जनता के हित में कुछ राहत भरे निर्णय कैबिनेट बैठक में लेगी। लेकिन कैबिनेट बैठक के निर्णयो से एक बार फिर राज्य की गरीब जनता की झोली खाली ही रह गयी। राज्य की जनता को सरकार से आस थी कि कोई राहत पैकेज कारोबारियों के लिए और मुफ्त राशन की घोषणा गरीब लोगों के लिए सरकार की तरफ से की जाएगी परंतु जिस तरह से राज्य सरकार ने राज्य की जनता को 20 किलो अनाज के सपने दिखाकर बैठक के दौरान खाद्य विभाग के प्रस्ताव को ठुकरा दिया उससे राज्य की जनता में घोर निराशा व्याप्त हुई है । प्रीतम सिंह ने कहा कि आज विभिन्न सेक्टर में काम करने वाले लोगों पर महामारी की वजह से वज्रपात हुआ है उन पर आजीविका का संकट आन खड़ा हुआ है और ऊपर से महंगाई ने गरीब जनता की कमर तोड़ने का काम किया है ऐसे में राज्य की जनता को एक अदद राहत पैकेज की दरकार प्रचंड बहुमत और डबल इंजन की सरकार थी। पीसीसी अध्यक्ष के मुताबिक कैबिनेट के निर्णय से राज्य वासियों को घोर निराशा ही हाथ लगी है, प्रीतम सिंह ने कहा कि राज्य सरकार को संवेदनशीलता दिखाते हुए इस महामारी के दौर में जो भी लोग बेरोजगार हुए हैं और जिनके ऊपर रोजी-रोटी का संकट खड़ा हुआ है उनके लिए रोड मैप के तहत कार्य करने की जरूरत है। गरिमा मेहरा दसौनी प्रदेश प्रवक्ता

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *