Sunday, May 9, 2021
Dark black and orange > Featured > ऋषिकेश नगर निगम और य़ूएनडीपी की गरीब बच्चों के लिए अनूठी पहल “कबाड़ से जुगाड़”

ऋषिकेश नगर निगम और य़ूएनडीपी की गरीब बच्चों के लिए अनूठी पहल “कबाड़ से जुगाड़”

ऋषिकेश नगर निगम और य़ूएनडीपी की गरीब बच्चों के लिए अनूठी  पहल “कबाड़ से जुगाड़” ऋषिकेश नगर निगम और यूएनडीपी ने गरीब बच्चों के लिए शुरू कराई “कबाड़ से जुगाड़” कार्यशाला। कार्यशाला के जरिए झुग्गियों में रहने वाले बच्चों ने दिखाया अपना हुनर। गरीब बच्चों को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के साथ उनके टेलेंट को निखारने के लिए  अब नगर निगम करेगा काम

KHABARDAR Express...

ऋषिकेश नगर निगम और यूएनडीपी ने गरीब बच्चों के लिए शुरू कराई “कबाड़ से जुगाड़” कार्यशाला। कार्यशाला के जरिए झुग्गियों में रहने वाले बच्चों ने दिखाया अपना हुनर। कहते हैं कि टैलेंट संसाधनों का मोहताज नहीं होता है, बस जरूरत होती है हुनर को पहचानने की, और पहचान करने के बाद इस हुनर को सही दिशा देने की।  इन दिनों ऋषिकेश नगर निगम गरीब बच्चों के हुनर को तराशने की ठोस पहल कर रहा है । दरअसल इन दिनों गरीब बच्चों के टेलेंट को निखारने की निगम द्वारा एक अनूठी  मुहिम छेड़ी हुई है ।

ऋषिकेश नगर निगम और यूएनडीपी ने गरीब बच्चों के लिए शुरू कराई “कबाड़ से जुगाड़” कार्यशाला। कार्यशाला के जरिए झुग्गियों में रहने वाले बच्चों ने दिखाया अपना हुनर। निगम प्रशासन  ने इनटरनेशनल संस्था यूएनडीपी के  साथ मिलकर गरीब बच्चों के लिए एक प्रोग्राम शहरभर में चलाया हुआ है इस मुहिम का नाम दिया गया है …कबाड़ से जुगाड़… कार्यशाला के जरिए गरीब बच्चों की प्रतिभा को निखारने की मुहिम शुरू की गई है। काबिलेगौर है कि इस मुहिम का शुरुआती चरण में ही बेहद शानदार नतीजे दिखाई देने लगे हैं। गरीब बच्चों ने वेस्ट मैटेरियल से घरेलू साज-सज्जा के जो सामान तैयार किए गए हैं उन्हें देखकर कोई भी चौक सकता है। नगर निगम की महापौर अनिता ममगाईं ने बताया कि नगर निगम ऋषिकेश और यू एन डी पी ने एक पहल की है, इस पहल का मकसद है कि सूखा कचरा प्रसंस्करण केंद्र के आसपास झुग्गियों में रहने वाले साथ ही कचरे का काम करने वाले परिवारों के बच्चों की प्रतिभा को निखारने के लिए एक कार्यशाला के जरिए उन्हें ट्रेनिंग दी जाय और इन दिनों . ट्रैनिंग उन गरीब बच्चों को दी जा रही है।

KHABARDAR Express...

ऋषिकेश नगर निगम और यूएनडीपी ने गरीब बच्चों के लिए शुरू कराई “कबाड़ से जुगाड़” कार्यशाला। कार्यशाला के जरिए झुग्गियों में रहने वाले बच्चों ने दिखाया अपना हुनर। गोविंद नगर स्थित डंपिंग जोन में बने सेंटर की कार्यशाला में सम्मिलित हुए बच्चों ने अपनी प्रतिभा को लोगों को दिखाया हैं। नगर निगम की इस नेक पहल से गरीब बच्चों का हुनर निखर कर सामने आया है  इस ट्रैनिग प्रोग्राम में  इन बच्चों ने बेहद खूबसूरत गमले तैयार किए हैं इन गमलों में निगम प्रशासन पौधे लगवायेगा । मेयर ममगाई ने बताया कि इस कार्यशाला में शामिल हुए तमाम बच्चों की हौसला अबजायी के अलावा निगम प्रशासन कला में सर्वश्रेष्ठ छाप छोड़ने वाले बच्चे को पुरस्कृत भी करेगा। यूएनडीपी के प्रोजेक्ट मैनेजर विधा भूषण ने बताया कि कार्यशाला में 20 बच्चे शामिल हुए हैं , जिन्होंने अलग अलग तरीके के लगभग 70 गमले बनाये हैं। इन बच्चों ने न केवल गमले बनाये बल्कि उनको रंग बिरंगा बनाने के बाद उनमे रस्सी भी बंधी हुई है जिससे इनको कही भी टाँगा जा सकता है।  इन गरीब बच्चों ने झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले गरीब बच्चों की हौसला अबजायी के लिए निगम की इस अनूठी पहल के लिए मेयर और यूएनडीपी संस्था को धन्यबाद भी कहा है

KHABARDAR Express...

हमारे देशभर में कई नगर निगम हैं, जो शहर की साफ सफाई का ख्याल रखते हैं अक्कसर देखा जाता है कि शहर के नगर निगम में कामकरमे वाले कर्मचारी भी गरीब तबके से ही आते हैं लेकिन अगर देशभर का हर नगर निगम ठान ले कि वो साफ सफाई के साथ शहर की झुग्गी झोपड़ी के बच्चों को हुनरमंद बनाने का भी काम करीगें तो शहरों में रहनेवाले गरीब बच्चों के दिन फिर सकते है और वो अपनी गरीबी के बावजूद हुनरमंद बनकर अपना और अपने परिवार को खुशहाली भरा जीवन जी सकते हैं आज बस जरूरत इस बात की है कि देश के बाकी नगर निगम भी ऋषिकेश नगर निगम की इस पहल से सीख ले और अपने शहर में भी गरीब बच्चों को हुनरमंद बनाने के लिए पहल करें जिससे इन गरीब नौनिहालों के भबिष्य को भी सुरक्षित किया जा सके |

ऋषिकेश से नीरज गोयल की रिर्पोट

KHABARDAR Express...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *