अब हरदा ने लगाया प्रदेश सरकार पर भ्रूण हत्या का आरोप, लोगों से की साथ देने की अपील

खबरदार ब्यूरो

पूर्व सीएम और कांग्रेस महासचिव हरीश रावत आजकल बी जे पी सरकार से परेशान चल रहे हैं यही वज़ह है कि हरदा ने प्रदेश सरकार पर भ्रूण हत्या तक का आरोप जड़ दिया है और लोगों से अपील की है कि वो सोशल मीडिया के जरिए उनके साथ जुड़े और उत्तराखंडी यत को लेकर जो दर्द उनके दिल में है उसको महसूस करें, यही नहीं हरदा यहां तक लिख गए कि उनके कार्यकाल की कई जनकल्याण कारी योजनाएं नई सरकार ने या तो बंद करदी या फिर उनका नाम बदल दिया है हरीश रावत अपने लेख के जरिए वैचारिक मंथन का आवाहन भी लोगों से कर रहे हैं, खास बात ये भी है कि हरदा अगर कुछ लिख रहे हैं तो मसला जरूर गंभीर होगा, आप सोशल मीडिया पर हरदा की अपील को खुद पढ़लें…

KHABARDAR Express...

मैं, उत्तराखण्ड के अपने भाई-बहनों जो उत्तराखण्ड से बाहर बसे हुये हमारे #प्रवासी बंधु हैं उन्हें और उत्तराखण्ड के #शुभचिन्तक भी, जो बहुत बड़ी संख्या में हैं पूरे देश में उनसे प्रार्थना करना चाहता हॅू कि वो मेरे #फेसबुक पर जुड़ें।
मैंने सीरीज में उत्तराखण्ड के लिये क्या लाभदायक है, क्या योजनाएं हमारी थी, पहले मैंने 13 ऐसे #लेख लिखे जिनमें ‘‘#जोहोसका’’ शीर्षक के तहत उनको वर्गीकृत किया और हाल में मैंने ‘‘#उत्तराखण्डसेउत्तराखण्डियततककीयात्रा’’ को लेकर के भी एक शीरीज में कुछ छोटे-2 लेख लिखे हैं और अब मैं 3 श्रृंखलाओं में अपने फेसबुक पेज पर यह लिख रहा हॅू कि कौन सी #योजनाएं ऐसी थी जिनको मैं अपने कार्यकाल में परवान नहीं चढ़ा सका और कौन सी योजनाएं ऐसी थी जो मेरी सरकार के जाने के बाद, नई सरकार ने आते ही जिनकी भ्रूण हत्या कर दी गई और कुछ योजनाएं जिनकी बाल हत्या कर दी गई, कुछ योजनाएं ‘‘#मेरा गाॅव-मेरी सड़क’’ जैसी योजना जिनकी भरी जवानी में हत्या कर दी गई तो मैं उनका उल्लेख कर रहा हॅू।
मेरा आपसे आग्रह है कि ये जो मेेरे लेख हैं, जो मैंने लिखा है, ये आने वाले लोगों के लिये बहुत काम आयेंगे। इनसे एक #वैचारिक मंथन चल सकता है, आपके मन में भी चल सकता है और आपसे जुड़े हुये लोगों के बीच में भी चल सकता है, इसलिये मेरा आपसे आग्रह है कि जो मेर साथ फेसबुक पेज, टि्वटर, यूट्यूब, इंस्टाग्राम पर जुड़े हुये हैं, इन्हें जरूर देखें और जो लोग नहीं जुड़े हैं, यदि उन तक कहीं से मेरा संदेश पहुंच रहा है, तो वो भी जुड़ें और जो जुड़े हैं वो अपने #अड़ोस-पड़ोस, दोस्तों, ईस्ट मित्रों से भी मेरे फेसबुक पेज से जुड़ने के लिये कहें ताकि उन तक भी मैंने #उत्तराखण्डकेविषय में क्या सोचा, क्या किया, उस सब की जानकारी पहुंच सके।
धन्यवाद।

india

uttarakhandमैं, #उत्तराखण्ड के अपने भाई-बहनों जो उत्तराखण्ड से बाहर बसे हुये हमारे #प्रवासी बंधु हैं उन्हें और उत्तराखण्ड के #शुभचिन्तक भी, जो बहुत बड़ी संख्या में हैं पूरे देश में उनसे प्रार्थना करना चाहता हॅू कि वो मेरे #फेसबुक पर जुड़ें। मैंने सीरीज में उत्तराखण्ड के लिये क्या लाभदायक है, क्या योजनाएं हमारी थी, पहले मैंने 13 ऐसे #लेख लिखे जिनमें ‘‘#जो_न_हो_सका’’ शीर्षक के तहत उनको वर्गीकृत किया और हाल में मैंने ‘‘#उत्तराखण्ड_से_उत्तराखण्डियत_तक_की_यात्रा’’ को लेकर के भी एक शीरीज में कुछ छोटे-2 लेख लिखे हैं और अब मैं 3 श्रृंखलाओं में अपने फेसबुक पेज पर यह लिख रहा हॅू कि कौन सी #योजनाएं ऐसी थी जिनको मैं अपने कार्यकाल में परवान नहीं चढ़ा सका और कौन सी योजनाएं ऐसी थी जो मेरी सरकार के जाने के बाद, नई सरकार ने आते ही जिनकी भ्रूण हत्या कर दी गई और कुछ योजनाएं जिनकी बाल हत्या कर दी गई, कुछ योजनाएं ‘‘#मेरा गाॅव-मेरी सड़क’’ जैसी योजना जिनकी भरी जवानी में हत्या कर दी गई तो मैं उनका उल्लेख कर रहा हॅू। मेरा आपसे आग्रह है कि ये जो मेेरे लेख हैं, जो मैंने लिखा है, ये आने वाले लोगों के लिये बहुत काम आयेंगे। इनसे एक #वैचारिक मंथन चल सकता है, आपके मन में भी चल सकता है और आपसे जुड़े हुये लोगों के बीच में भी चल सकता है, इसलिये मेरा आपसे आग्रह है कि जो मेर साथ फेसबुक पेज, टि्वटर, यूट्यूब, इंस्टाग्राम पर जुड़े हुये हैं, इन्हें जरूर देखें और जो लोग नहीं जुड़े हैं, यदि उन तक कहीं से मेरा संदेश पहुंच रहा है, तो वो भी जुड़ें और जो जुड़े हैं वो अपने #अड़ोस-पड़ोस, दोस्तों, ईस्ट मित्रों से भी मेरे फेसबुक पेज से जुड़ने के लिये कहें ताकि उन तक भी मैंने #उत्तराखण्ड_के_विषय में क्या सोचा, क्या किया, उस सब की जानकारी पहुंच सके। धन्यवाद। #india #uttarakhand

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *